जम्मू-कश्मीरः श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में 11 घायल, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू-कश्मीरः श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में 11 घायल, सर्च ऑपरेशन जारी

Amit Kumar Bajpai | Updated: 12 Oct 2019, 04:29:01 PM (IST) क्राइम

  • सुरक्षा बलों ने संभाला मोर्चा और इलाके में सर्च ऑपरेशन शुरू।
  • इस साल पाकिस्तान की ओर से बढ़ गए हैं संघर्ष विराम के मामले।

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को रद्द करने के बाद वहां तैनात भारी सुरक्षा के बीच शनिवार को घाटी में आतंकी हमले की खबर सामने आई है। शनिवार को श्रीनगर स्थित भीड़भाड़ वाले बाजार हरि सिंह हाइट स्ट्रीट में आतंकियों ने ग्रेनेड से हमला किया। खरीदारों की भीड़ से भरे बाजार में हुए इस हमले में 11 लोगों के जख्मी होने की सूचना है।

चंद्रयान-2 छोड़िए, मंगलयान ने पूरे किए 5 साल और इसरो ने जारी किया डाटा

पुलिस द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक हरि सिंह हाई स्ट्रीट बाजार में किए गए ग्रेनेड अटैक में कम से कम 11 लोग घायल हो गए हैं। सभी घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

ग्रेनेड हमले के बाद इलाके में सर्च ऑपरेशन चालू कर दिया गया है और कई जगह नाकाबंदी कर दी गई है। अचानक हुए इस हमले के बाद सुरक्षाबलों ने मोर्चा संभाल लिया है और छापेमारी की जा रही है।

बड़ी खबरः इसरो चीफ के सामने इस दिग्गज का खुलासा, विक्रम से संपर्क करने में यह सिस्टम बना परेशानी

गौरतलब है कि पिछले साल की तुलना में इस साल पाकिस्तान ने संघर्ष विराम का काफी ज्यादा उल्लंघन किया है।

भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक, "10 अक्टूबर 2019 तक पाकिस्तान ने 2317 बार सीजफायर का उल्लंघन किया है। जबकि इस दौरान नियंत्रण रेखा और अंदरूनी इलाकों में सुरक्षा बलों की तमाम अलग-अलग कार्रवाई में 147 आतंकवादियों को ढेर कर दिया गया है।"

बिग ब्रेकिंगः चंद्रयान 2 को लेकर के सिवन ने अचानक किया बड़ा ऐलान, कहा- अब हमें...

वहीं, पिछले वर्ष 2018 में पाकिस्तान द्वारा पूरे साल में 1629 बार संघर्षविराम का उल्लंघन किया गया था।

जबकि बीते साल सुरक्षा बलों द्वारा चलाए गए तमाम अभियान और कड़ी कार्रवाई में 254 आतंकियों को ठोक डाला गया था। इन आतंकियों में तमाम स्थानीय और विदेशी आतंकी कमांडर भी शामिल थे।

#Breaking: इसरो का बड़ा खुलासा, यह थी चंद्रयान से संपर्क टूटने की असली वजह

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned