कासगंज हिंसा: चंदन गुप्ता हत्याकांड का मुख्य आरोपी सलीम गिरफ्तार, 2 अभी भी फरार

कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की हत्या के तीन मुख्य आरोपियों में से एक सलीम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

By: Chandra Prakash

Updated: 01 Feb 2018, 02:42 PM IST

नई दिल्ली। कासगंज हिंसा में मारे गए चंदन गुप्ता की हत्या के तीन मुख्य आरोपियों में से एक सलीम को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। खबर है कि सलीम को पुलिस ने कासगंज से ही गिरफ्तार किया है। पुलिस की कई टीमें पिछले चार दिन से सलीम को तलाश कर रही थी। अभी इस हत्याकांड के दो अन्य आरोपी वासिम और नसीम अभी फरार हैं।


STF की टीम को भी थी तलाश
चंदन हत्याकांड के आरोपियों की तलाश के लिए यूपी पुलिस के अलावा एसटीएफ की टीम भी जुटी थी। कहा जा रहा है कि 22 वर्षीय चंदन की मौत सलीम की गोली से ही हुई थी। कासगंज के डीएम के मुताबिक चंदन को छत पर चढ़कर गोली मारी गई थी। जिसके बाद कासगंज में हिंसा भड़क गई।

शहीद का दर्जा देने वाली मांग खारिज
वहीं कासगंज हिंसा का मामला अब हाईकोर्ट भी पहुंच गया है, जैसा कि चंदन का परिवार पहले से ही चंदन की मौत के बाद 50 लाख रुपए के मुआवजे के साथ-साथ चंदन को शहीद का दर्जा दिए जाने की मांग कर रहा था, लेकिन हाईकोर्ट ने परिवार की इस अर्जी को खारिज कर दिया है। हाईकोर्ट ने कहा है कि इस मामले में जांच अभी जारी है और परिवार को 20 लाख रुपए का मुआवजा जारी किया जा चुका है।


मुख्य आरोपियों के घर नोटिस चस्पा
इससे पहले सोमवार को कासगंज में पुलिस ने सभी 3 मुख्य आरोपियों के घर के बाहर एक नोटिस चिपका दिया था, जिसमें तीनों मुख्य आरोपियों को एक मार्च तक अदालत में हाजिर होने का समय दिया गया था। नोटिस में लिखा था कि अगर तीनों आरोप एक मार्च तक अदालत में हाजिर नहीं होंगे तो उनकी संपत्ति को जब्त कर लिया जाएगा।


केंद्र ने योगी सरकार से मांगी रिपोर्ट
केंद्र सरकार ने मंगलवार को कासगंज जिले की स्थिति पर प्रदेश सरकार से रिपोर्ट मांगी है। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि मंत्रालय ने प्रदेश सरकार से इसकी विस्तृत रिपोर्ट मांग कर पूछा है कि प्रदेश सरकार ने स्थिति से निपटने के लिए क्या-क्या कदम उठाए गृह मंत्रालय के नियंत्रण कक्ष के आंकड़ों के अनुसार हिंसा के आरोप में 118 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि किसी अप्रिय स्थिति से बचने के लिए जिले के संवेदनशील स्थानों पर पुलिस के अलावा दंगारोधी कार्य बल को भी तैनात किया गया है।


सामने आया घटना का वीडियो
बता दें कि कासगंज हिंसा मामले में आए दिन कोई न कोई नए खुलासे हो रहे हैं और अभी तक बिना जांच रिपोर्ट के किसी भी निष्कर्ष पर पहुंचना जल्दबाजी होगी। बुधवार को ही इस मामले से जुड़ा एक वीडियो सामने आया था, जिसमें कुछ युवक हाथों में तिरंगा लिए फायरिंग करते नजर आ रहे हैं। इस वीडियो के सामने आने के बाद इस केस में नया मोड़ आ गया था।

Chandra Prakash Content Writing
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned