कठुआ रेप केस: जम्मू एवं कश्मीर में छात्रों की सुरक्षा बलों के साथ झड़प, अलर्ट

Mohit sharma

Publish: Apr, 17 2018 03:42:38 PM (IST)

क्राइम
कठुआ रेप केस: जम्मू एवं कश्मीर में छात्रों की सुरक्षा बलों के साथ झड़प, अलर्ट

कश्मीर के सोपोर कस्बे में मंगलवार को कठुआ दुष्कर्म व हत्या की पीड़ित के लिए न्याय की मांग कर रहे छात्रों की सुरक्षा बलों से झड़प हो गई।

नई दिल्ली। जम्मू एवं कश्मीर के सोपोर कस्बे में मंगलवार को कठुआ दुष्कर्म व हत्या की पीड़ित के लिए न्याय की मांग कर रहे छात्रों की सुरक्षा बलों से झड़प हो गई। इससे पहले सुबह सोपोर के गवर्मेट डिग्री कॉलेज के छात्रों ने विरोध मार्च निकाला। सुरक्षा बलों ने विरोध प्रदर्शन कर रहे छात्रों को तितर-बितर करने के लिए आंसू गैस के गोलों का इस्तेमाल किया। अधिकारियों ने ऐहतियातन कई दिनों तक कॉलेज को बंद रखने के बाद मंगलवार से इसे खोलने का निर्णय लिया था।

स्मृति ईरानी को गंदे इशारे करने वाले डीयू के 4 छात्रों के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल, 15 अक्टूबर को सुनवाई

पत्थरबाजी से निपटने को बनाया था यह प्लान

बता दें कि कश्मीर में लगातार बढ़ती जा रही पत्थरबाजी की घटनाओं को लेकर राज्य पुलिस एक एक्सक्लूसिव प्लान बनाया था। प्लान के अंतर्गत पुलिस ने हाल ही में एक काउंसिलिंग सत्र का आयोजन किया था। काउंसिलिंग सत्र में पुलिस ने सुरक्षाबलों पर पत्थर फेंकने जैसी घटनाओं में शामिल युवाओं को बुलाया था। इस दौरान पुलिस अधिकारियों ने आयोजन में शामिल युवाओं को पूरी सहायता का आश्वासन दिया था। पुलिस अधिकारियों ने कहा कि उनकी स्टडी, टयूशन व स्पोर्ट गतिविधियों में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं आने दी जाएगी।

फांसी के बाद यहां दफनाया गया था सद्दाम हुसैन का शव, अचानक हुआ गायब

विरोध में निकाला जुलूस

जम्मू एवं कश्मीर के पूर्व मंत्री चौधरी लाल सिंह ने मंगलवार को कठुआ सामूहिक दुष्कर्म और हत्या मामले की जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग को लेकर यहां एक विरोध जुलूस निकाला। कठुआ मामले के आरोपियों के समर्थन में निकाले गए 'हिंदू एकता मंच' के जुलूस में शामिल होने के बाद मचे हंगामे के बाद सिंह ने वन मंत्री के पद से तथा चंदर प्रकाश गंगा ने उद्योग मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया था। सिंह ने शहर के सतवारी चौक क्षेत्र में अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा, "वह हमारी अपनी बेटी थी। हम उसके दोषियों को सजा दिलाने के लिए लड़ रहे हैं, लेकिन यह दुर्भाग्य है कि यहां से दूर रह रहे लोग तथ्यों को बिना जाने मामले को बिगाड़ रहे हैं। राज्यपाल एन.एन. वोहरा ने सोमवार को दोनों मंत्रियों के इस्तीफे मंजूर कर लिए थे।

 

Ad Block is Banned