केरल: जालंधर में बिशप के स्वागत पर बोला पीड़ित नन का भाई, खुद पर शर्म करे मुलक्कल

केरल: जालंधर में बिशप के स्वागत पर बोला पीड़ित नन का भाई, खुद पर शर्म करे मुलक्कल

Mohit sharma | Updated: 18 Oct 2018, 01:55:49 PM (IST) क्राइम

केरल नन रेप केस के आरोपी फ्रैंको मुलक्कल को लेकर पीड़ित नन के भाई का बड़ा बयान सामने आया है।

नई दिल्ली। केरल नन रेप केस के आरोपी फ्रैंको मुलक्कल को लेकर पीड़ित नन के भाई का बड़ा बयान सामने आया है। पीड़िता के भाई ने गुरुवार को कहा कि भले ही कोर्ट ने बिशप फ्रेंको को जमानत दे दी हो, लेकिन वह निर्दोष नहीं है। नन के भाई ने कहा कि कोर्ट से जमानत मिलने के बाद जालंधर में जिस तरह से उसको स्वागत किया गया, वह उसकी निंदा करते हैं। एक धार्मिक व्यक्ति होने के नाते फ्रैंको को खुद पर शर्म आनी चाहिए। आपको बता दें कि पीड़ित नन के भाई का यह बयान कोर्ट द्वारा यौन उत्पीड़न के आरोपी बिशप फ्रैंको मुलाक्कल को जमानत दिए जाने के बाद आया।

मुंबई: बावखलेश्वर मंदिर को तोड़ने की कवायद शुरू, सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की याचिका

 

क्रिकेटर मोहम्‍मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने थामा कांग्रेस का हाथ, मुंबई से शुरू की सियासी पारी

21 सितंबर को किया गया था गिरफ्तार

दरअसल, केरल हाई कोर्ट से जमानत मिलने के एक दिन बाद कैथोलिक बिशप फ्रैंको मुलक्कल कोट्टायम के समीप पाला उप-कारागार से बाहर निकल गए। बिशप को एक नन के साथ दुष्कर्म के आरोप में 21 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था। जमानत मिलने के बाद जालंधर पहुंचे मुलक्कल का उनके समर्थकों ने जोरदार स्वागत किया। मुलक्कल को 21 सितंबर को गिरफ्तार किया गया था। तीन दिन की पूछताछ के बाद 24 सितंबर को उन्हें दो हफ्तों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया था।

#MeToo में फंसे फिल्म निर्माता साजिद खान, बिकिनी फोटोज की करते थे डिमांड

बिशप मुलक्कल पर एक नन के साथ 2014 से 2016 के बीच लगातार यौन उत्पीड़न का आरोप लगा है। नन ने बिशप के खिलाफ दर्ज कराई शिकायत में बताया है कि पंजाब के जालंधर के रोमन कैथलिक डाइअसिस के बिशप फ्रैंको मुलक्कल ने वर्ष 2014 से वर्ष 2016 के बीच उसके साथ 14 बार दुष्कर्म किया। वहीं, बिशप ने इन आरोपों को निराधार बताया है। बिशप का कहना है कि उन्हें नन के खिलाफ कार्रवाई करने के कारण फंसाया जा रहा है।मुलक्कल के अनुसार, यह समस्या 2016 में तब शुरू हुई जब उन्हें नन के खिलाफ एक शिकायत पर कार्रवाई की।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned