Kerala Gold Smuggling Case: केटी रमीस की एनआईए हिरासत 7 अगस्त तक बढ़ी

  • कोच्चि की विशेष NIA court ने मामले के आरोपी केटी रमीस की हिरासत बढ़ाई।
  • Kerala Gold Smuggling Case में National Investigation Agency अब तक 10 लोगों की गिरफ्तारी कर चुकी है।
  • प्रदेश में भाजपा और कांग्रेस ने की Kerala CM Pinarayi Vijayan के इस्तीफे की मांग।

तिरुवनंतपुरम। केरल के हाई प्रोफाइल सोने की तस्करी मामले (Kerala Gold Smuggling Case ) में मंगलवार को कोच्चि की विशेष एनआईए अदालत ( NIA court ) ने एक आरोपी केटी रमीस की एनआईए हिरासत को सात अगस्त तक के लिए बढ़ा दिया। मंगलवार को हिरासत अवधि समाप्त होने से पहले केटी रमीस को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसकी हिरासत को बढ़ा दिया गया।

केरल सोने की तस्करी मामले में बीते 12 जुलाई की सुबह मलप्पुरम के वेत्ताथुर से केटी रमीस भी गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद 28 जुलाई को उसे सात दिनों की एनआईए ( National Investigation Agency ) हिरासत में भेज दिया गया था। सोने की तस्करी के इस मामले की जांच एनआईए कर रही है और अब तक 10 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

गौरतलब है कि केरल में हाई प्रोफाइल सोने की तस्करी के मामले ( Kerala Gold Smuggling ) में कोच्चि की विशेष एनआईए अदालत ने मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश ( swapna suresh ) और संदीप नायर को 21 अगस्त तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। मुख्य आरोपी स्वप्ना सुरेश ने अदालत में कहा कि उसे हिरासत में मानसिक यातना झेलनी पड़ी थी और इसी वजह से उसने सीमा शुल्क अधिकारियों को अपना बयान दिया था।

बता दें कि यह मामला 14.82 करोड़ रुपये के 30 किलोग्राम सोने की तस्करी का है। जिसे राजनयिक सामान के रूप में एक खेप में तस्करी करके तिरुवनंतपुरम में सीमा शुल्क द्वारा बरामद किया गया था। फिलहाल एनआईए राजनयिक चैनलों के माध्यम से राज्य में सोने की तस्करी से जुड़े हाई-प्रोफाइल मामले की जांच कर रही है।

इससे पहले एनआईए द्वारा जारी बयान में कहा गया था, "यह मामला दूसरे देश से भारत में बड़ी मात्रा में सोने की तस्करी से जुड़ा है। इसलिए यह देश की आर्थिक स्थिरता और राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है। गैरकानूनी गतिविधि (निवारक) अधिनियम, 1967 की धारा 15 के अंतर्गत यह एक आतंकी गतिविधि के समान है।"

एनआईए ने आगे कहा, "यह मामला राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय सूत्रों से जुड़ा हुआ है। प्रारंभिक पड़ताल से पता चला है कि तस्करी के सोने का इस्तेमाल भारत में आतंकवाद के वित्तपोषण में किया जा सकता है। लिहाजा एनआईए ने इस मामले को अपने हाथ में लिया है।"

वहीं, इस मामले को प्रदेश में राजनीति भी चरम पर पहुंच रही है और भारतीय जनता पार्टी के बाद अब कांग्रेस ने भी मुख्यमंत्री पिनारायी विजयन ( Kerala CM Pinarayi Vijayan ) के इस्तीफे की मांग की है।

अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned