Kerala Gold Smuggling Case : स्वप्ना सुरेश और सरित पीएस की बढ़ी मुश्किलें, एक और मुकदमा दर्ज

  • Kerala Gold Smuggling का खुलासा 5 जुलाई को हुआ था।
  • इस मामले की जांच कई केंद्रीय एजेंसियां कर रही हैं।
  • सोना तस्करी मामले में स्वप्ना सुरेश और सरित पीएस मुख्य आरोपी हैं।

By: Dhirendra

Updated: 17 Oct 2020, 12:46 PM IST

नई दिल्ली। बहुचर्चित केरल गोल्ड स्मगलिंग मामले ( Kerala Gold Smuggling Case ) में आरोपी स्वप्ना सुरेश और सरित पीएस की मुश्किलें कम होने के बजाए बढ़ती जा रही हैं। इस मामले में सीमा शुल्क विभाग ( Custom Department ) ने एक और मुकदमा दर्ज किया है। इसके साथ ही सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने विशेष अदालत के सामने इससे जुड़ी एक रिपोर्ट भी पेश की है।

बता दें कि हाई-प्रोफाइल केरल सोने तस्करी मामले में 2 दिन पहले दो प्रमुख आरोपी स्वप्ना सुरेश ( Swapna Suresh ) और सरित पीएस ( Sarith PS ) ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी की विशेष अदालत में दायर जमानत याचिका वापस ले ली थी।

Kerala Gold Smuggling Case में एनआईए का बड़ा खुलासा, दाऊद इब्राहिम से जुड़े हैं तार

कोच्चि की अदालत से मिली राहत

दूसरी तरफ इस सप्ताह की शुरुआत में सोने की तस्करी से संबंधित एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में स्वप्ना सुरेश को कोच्चि की प्रधान सत्र न्यायालय ने जमानत दी थी। कोच्चि की अदालत से मिली जमानत को स्वप्ना सुरेश के लिए बड़ी राहत माना जा रहा है। स्वप्ना को इस मामले में जमानत इसलिए मिली कि सीमा शुल्क विभाग के अधिकारी 60 दिनों के अंदर अदालत के सामने रिपोर्ट दाखिल करने में विफल रहे।

गैर कानूनी गतिविधि में शामिल होने का आरोप

इसके बावजूद स्वप्ना सुरेश को अभी जेल में ही रहना होगा। ऐसा इसलिए कि सोने की तस्करी से संबंधित एक अन्य मामले में स्वप्ना सुरेश एनआईए की हिरासत में हैं। इस मामले में उन पर गैरकानूनी गतिविधि रोकथाम अधिनियम को ताक पर रखकर तस्करी में शामिल होने का आरोप है।

Kerala Gold Sumggling: अदालत ने Swapna, Sarith, Sandeep को ईडी की हिरासत में भेजा

गौरतलब है कि 5 जुलाई को तिरुवनंतपुरम अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर एक डिप्लोमैटिक बैगेज से 15 करोड़ का सोना जब्त होने के बाद से राष्ट्रीय जांच एजेंसी ( NIA ), सीमा शुल्क और प्रवर्तन निदेशालय ( ED ) समेत कई केंद्रीय एजेंसियां अलग-अगल जांच कर रही हैं। यह मामला तिरुअनंतपुरम सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों की सक्रियता से सामने आया था।

Dhirendra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned