BJP के मंत्री पर भ्रष्टाचार का आरोप, बेटी को विदेश पढ़ाने के लिए खोल दिया मंत्रालय का द्वार

बीजेपी के मंत्री बडोले पर अपनी बेटी के विदेश में उच्चतर शिक्षा के लिए अपने मंत्रालय से ही छात्रवृत्ति देने का आरोप लगा है।

By: Mohit sharma

Published: 07 Sep 2017, 12:49 PM IST

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में एक के बाद एक बड़े घोटाले सामने आ रहे हैं। अभी बिल्डर के साथ करीब 600 करोड़ रुपए के जमीन घोटाले में लिप्त मंत्री प्रकाश मेहता का मामला ठंडा नहीं पड़ा था कि प्रदेश के सामाजिक न्याय मंत्री राजकुमार बडोले का भी नाम सामने निकलकर आया है। बडोले पर अपनी बेटी के विदेश में उच्चतर शिक्षा के लिए अपने मंत्रालय से ही छात्रवृत्ति देने का आरोप लगा है। इसके साथ ही मंत्रालय के दो वरिष्ठ नौकरशाहों के बेटों के नाम भी छात्रवृत्ति की सूची में शामिल बताए जा रहे हैं। उधर, सीएम देवेंद्र फडनवीस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए मंत्री से स्पष्टीकरण मांगा है।

अफसरों के बेटों के भी नाम

दरअसल, राज्य का सामाजिक न्याय एवं विशेष सहायता विभाग प्रत्येक वर्ष अनुसूचित जाति के छात्रों के लिए विदेशी शिक्षा छात्रवृत्ति का प्रावधान करता है। छात्रवृत्ति के रूप में मुहैया कराई जाने वाली इस आर्थिक सहायता में इकोनॉमी कैटेगिरी से विमान का एक तरफा किराया, शिक्षण शुल्क, भत्ते आदि शामिल हैं। वहीं मंत्री बडोले इस पूरे मामले से पल्ला झाड़ते हुए नजर आ रहे हैं। बता दें कि उनकी बेटी श्रुति ब्रिटेन के मैनचेस्टर विश्वविद्यालय से 'एस्ट्रोनामी एंड एस्ट्रोफिजिक्सÓ में तीन साल की पीएचडी कर रही हैं। सरकारी आदेश (जीआर) में उच्चतर एवं तकनीकी शिक्षा मंत्रालय द्वारा प्रकाशित की गई सूची में यह सच सामने आया है। आरोप है कि छात्रवृत्ति के लिए चयनित 35 छात्रों में राज्य सरकार के वरिष्ठ नौकरशाहों के बेटे समीर दयानंद मेशराम और अंतरिक्ष दिनेश वाघमारे शामिल हैं।

आधारहीन बताए आरोप

वहीं भ्रष्टाचार के आरोपों में मंसे मंत्री राजकुमार बडोले ने उनपर लगे आरोपों को बेबुनियाद और आधारहीन बताया है। उन्होंने कहा कि उनकी बेटी को छात्रवृत्ति मिलने में उनकी भूमिका नहीं है। उन्होंने कहा कि मेरी बेटी ने आवेदन किया था और वह छात्रवृत्ति के लिए चयनित हुई है। उन्होंने कहा कि मैं चयन समिति तक में शामिल नहीं था।

 

Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned