महाराष्ट्र में पीने के पानी का संकट, घर से चोरी हुआ तो कराई FIR

  • नासिक में गहराया पानी का संकट
  • व्यक्ति ने पानी चोरी पर पुलिस में की शिकायत
  • नासिक में महीने में एक बार होती है पानी की सप्लाई

By: Shivani Singh

Updated: 13 May 2019, 09:48 PM IST

नई दिल्ली। महाराष्ट्र के कई इलाके पानी के संकट से जूझ रहे हैं। हालत ये है कि यहां पानी के लिए मारा-मारी हो रही है। कई जगहों पर तो पानी सोने की तरह कीमती हो गया है। हालत इस कदर खराब है कि लोगों को पानी के लिए डाका भी डालना पड़ रहा है। सबसे बूरी हालत नासिक की है। यहां पानी की चोरी का मामला सामने आया है।

यह भी पढ़ें-पंजाब में राहुल का बड़ा बयान, 'फोन पर कहा था- 84 दंगे के बयान पर माफी मांगें सैम पत्रोदा'

बता दें कि नासिक में महीने में एक बार ही पीने के पानी की सप्लाई होती है। यहां पानी इतना कीमती हो गया है कि लोगों ने पानी की टंकियों में ताला लगाना शुरू कर दिया है। लेकिन तब भी पानी की चोरी की ख़बरें सामने आ रही हैं। नासिक के मनमाड कस्बे में पानी के बिना हालत इतनी खराब है कि एक व्यक्ति ने पुलिस में पानी चोरी होने पर एफआईआर दर्ज कराई है।

पीड़ित विलास के मुताबिक श्रावस्तीनगर में उनका घर है। उनके घर के छत पर पानी की टंकी लगी है। टंकी में पांच सौ लीटर पानी थी, लेकिन ढाई सौ लीटर पानी चोरी हो गया है। विलास ने बताया कि उनकी टंकी का पानी प्योरिफाइ था। जब उन्हें पीने का पानी कम लगा तो उन्होंने टंकी चेक की। इस दौरान उन्हें पानी आधा बचा मिला, जिसके बाद उन्होंने इसकी शिकायत पुलिस से की। लेकिन पुलिस ने विलास की एफआईआर को मजाकिया तौर पर लिया। पुलिस को समझ नहीं आ रहा कि पानी की चोरी की रिपोर्ट किस धारा में दर्ज करें।

यह भी पढ़ें-बंगाल: रैली रद्द होने पर अमित शाह का पलटवार, 'भतीजे की हार के डर से ममता जी ने उठाया यह कदम'

विलास के मुताबिक यह गंभीर समस्या है। हमने पुलिस को बताया कि हम लोग पानी की कमी से जूझ रहे हैं। पुलिस को केस दर्ज कर पानी चोरी करने वाले को पकड़ना चाहिए। पुलिस ने इस मामले में कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपुर्ण घटना है। इस पर कार्रवाई की जा रही है।

 

Indian Politics से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter पर ..
Lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download patrika Hindi News App.

 

Show More
Shivani Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned