तेलंगाना: प्रेमिका की हत्या छिपाने के लिए सनकी प्रेमी ने 9 लोगों को उतारा मौत के घाट

- आरोपी ने पश्चिम बंगाल ( West Bengal ) ले जाकर की थी प्रेमिका की हत्या

- तेलंगाना पुलिस ( Telangana ) ने आरोपी से पूछताछ के बाद किए हैं चौंकाने वाले खुलासे

By: Kapil Tiwari

Updated: 26 May 2020, 07:04 PM IST

नई दिल्ली। तेलंगाना ( Telangana ) के वारंगल में एक कुएं से मिले 9 शवों की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है। पुलिस ने इस मामले में चौंकाने वाला खुलासा किया है। दरअसल, हत्यारे ने अपने प्रेमिका की हत्या को छिपाने के लिए 9 लोगों को और मौत के घाट उतार दिया। पुलिस ने आरोपी की पहचान संजय कुमार के रूप में की है, जो अब पुलिस की हिरासत में है।

सनकी हत्यारे ने नींद की गोलियों की ली थी मदद

पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर इस सनसनीखेज केस के बारे में बताया। पुलिस के मुताबिक, 'संजय ने सभी के खाने में नींद की गोलियां मिलाई थी। इसके बाद सभी को बोरे से घसीट के कुएं में फेंक दिया।' यह सब उसने अपनी गर्लफ्रेंड की हत्या को छिपाने के लिए किया, जिसका कत्ल उसने ही मार्च में किया था।

पश्चिम बंगाल में की थी गर्लफ्रेंड की हत्या

पुलिस ने बताया कि संजय ने अपनी गर्लफ्रेंड की बेटी के साथ छेड़खानी की थी, जिसपर वो भड़क उठी। इसके बाद उसने डर के मारे उसे रास्ते से हटाने का सोचा। इसके लिए वो प्लांनिग के तहत उसे पश्चिम बंगाल ले गया और ट्रेन में ही उसको जान से मार दिया। इसके बाद वारंगल के गोदाम में रहने वाली एक महिला ने संजय से उसके बारे में पूछना शुरू किया और यहां तक कह दिया कि वो पुलिस में उसके खिलाफ शिकायत करेगी। बस इसी राज के बाहर आने से डरकर संजय ने उन सबकी हत्या की भी साजिश रज डाली।

इस तरह की थी हत्या

वारदात वाली रात वो उनके कमरे पर गया। यहां उसने सबके खाने में दवाई मिलाई। उसी कमरे के ऊपर दो अन्य मजदूर रहते थे, संजय ने उनको भी ठिकाने लगाने का प्लान किया। दवा के असर से जब रात को सब बेहोश हुए तो उसने सबको कुएं में धक्का दे दिया। आपको बता दें कि, मारे गए लोगों में एक ही परिवार के 6 लोग थे। ये पश्चिम बंगाल से 20 साल पहले यहां आए थे। इसके अलावा बिहार और त्रिपुरा के भी तीन मजदूर मारे गए।

पहले आत्महत्या का केस मान रही थी पुलिस

पुलिस को 21 और 22 मई को कुएं से 9 शव मिले थे। शुरुआती जांच में पुलिस को लगा कि आर्थिक तंगी के कारण परिवार ने आत्महत्या की है। हालांकि, पोस्टमॉर्टम में शरीर पर कुछ संदिग्ध निशान देखे गए। जब जांच हुई तो इस वारदात का खुलासा हुआ। बाद में संजय ने खुद ही अपना गुनाह पुलिस के सामने कबूल कर लिया।

Kapil Tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned