खौफनाक: तीस से ज्यादा लोगों ने नाबालिग के साथ किया दुष्कर्म, जब लड़की ने खोला पूरा राज तो सन्न रह गए लोग

एक नाबालिग लड़की के साथ तीस से ज्यादा लोगों ने गैंगरेप किया।

By: Kaushlendra Pathak

Published: 15 Nov 2018, 03:01 PM IST

नई दिल्ली। हरियाणा से सनसनीखेज मामला सामने आ रहा है। पानीपत में एक नाबालिग लड़की के साथ तीस से ज्यादा लोगों ने गैंगरेप किया है। मासूम ने एक के बाद एक जब खुलासे करने शुरू किए तो सब सन्न रह गए। सबसे हैरानी वाली बात यह है कि पीड़िता नाबालिग को खरीदा और बेचा भी गया।

यह है पूरा मामला...

जानकारी के मुताबिक, पीड़ित लड़की के पिता ने करीब के कारण अपनी 14 साल की बेटी को एक परिचित महिला के पास छोड़ दिया। वहीं, महिला के रिश्तेदार ने मासूम के साथ दुष्कर्म किया। लड़की ने जब इसका विरोध किया तो उसकी पिटाई कर दी। इसके बाद महिला के पति और भाई ने उस मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया। कुछ समय बाद एक दिन नाबालिग को वे लोग खेत में ले गए, जहां चार और लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़ित लड़की के वकील मलिक ने बताया कि कुछ समय बाद महिला ने उस लड़की को एक ढाबे वाले के हाथ बेच दी। पहले ढाबा के मालिक ने उसके साथ रेप। इसके बाद वो ग्राहकों से रेप कराने लगा। यह सिलसिला काफी समय तक चलता रहा। इस बीच में लड़की के पिता जब भी उससे मिलने आते तो कुछ न कुछ बहान बनाकर टाल दिया जाता।

पीड़िता की बयान सुन हैरान रह गए सब

आखिरकार, मजबूर होकर पीड़ित लड़की के पिता ने समालखा थाने में शिकायत दर्ज कराई। शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू की और लड़की को बरामद कर लिया गया। मलिक ने बताया कि पुलिस ने लड़की को समालखा से बरामद कर अदालत में 164 के बयान कराए। उसके जीजा सहित अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया। शुरू में आरोपितों द्वारा बाप-बेटी को मारने की धमकी देेने से डरी लड़की ने कोर्ट में गलत बयान दिए। इसके बाद दोबार उसके बयान दर्ज किए गए तो लड़की ने सारी सच्चाई बता दी। उसने कहा तीस से ज्यादा लोगों ने उसके साथ दुष्कर्म किए और अब वह गर्भवती है। इधर, डॉक्टर्स का कहना है कि उसकी जान को खतरा है। फिलहाल, हॉस्पिटल में उसका इलाज चल रहा है और आरोपितों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी शुरू हो गई है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned