ईडी की गिरफ्त में 2200 करोड़ के मनी लॉन्ड्रिंग का आरोपी, 10 हजार करोड़ का हो सकता है हवाला

आरोपी का नाम मोहम्मद फारूक बताया जा रहा है जिस पर 2200 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है।

By: Kiran Rautela

Published: 25 Apr 2018, 02:40 PM IST

नई दिल्ली। कारोबार के नाम पर मनी लांड्रिंग का रैकेट चलाने वाले एक शख्स को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मुंबई से गिरफ्तार किया है।

2200 करोड़ की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप

आरोपी का नाम मोहम्मद फारूक बताया जा रहा है जिस पर 2200 करोड़ रुपये की मनी लॉन्ड्रिंग का आरोप है। खबर है कि मोहम्मद फारूक ने कारोबार करने के नाम पर एक कंपनी बना रखी थी जिसके 150 से ज्यादा बैंक खाते थे। बता दें कि इनमें पंजाब नैशनल बैंक का नाम भी शामिल है। पुलिस ने बताया कि इस फर्जी कारोबार को चलाने के लिए फारूख विदेशों से फर्जी आयात के बिल दिखाता था।

अन्य साथियों की तलाश जारी

ईडी ने बताया कि पिछले कुछ समय से फारूख पर उनकी नजर थी। काफी मशक्कत के बाद से मुंबई हवाईअड्डे पर फारूख को हिरासत में लिया गया। ईडी ने आगे बताया कि फारूख के अन्य साथियों की तलाश की जा रही है और कई और कंपनियों के होने का शक है। ईडी की विशेष अदालत ने उसे 2 दिन की हिरासत में लिया है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि यह हवाला कारोबार 10,000 करोड़ रुपये का हो सकता है।

'फारूख पेपरवेट' नाम से है फेमस

हवाला की दुनिया में फारूख का नाम काफी फेमस है और 'फारूख पेपरवेट' के नाम से सभी इसे जानते हैं। बता दें कि ईडी ने फारूख के खिलाफ लुक आउट नोटिस भी जारी किया था। ईडी ने यह जानकारी भी दी है कि जिन फर्मों को फारूख चलाता था उनमें स्टेल्कॉन इन्फ्रा प्रा. लि. नाम की फर्म भी है जो उसी के नाम से है।

साथ ही जांच में पता चला है कि कई फर्मों के पते भी फर्जी थे और फारूख इन्हें संभालता था।फारूख ही इस कारोबार और मनी लांड्रिंग का सरगना है। मुंबई कई बैंकों में उसके करीब 135 खाते हैं जिनका इस्तेमाल करके वह हवाले का सारा पैसा विदेश भेजता था।

Kiran Rautela Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned