मुंबई पुलिस का खुलासा, पैसे देकर चैनलों ने बढ़ाई टीआरपी, एक चर्चित हिंदी न्यूज चैनल भी शामिल

  • फॉल्स टीआरपी का रैकेट चल रहा था।
  • एक बड़ा चर्चित हिंदी न्यूज चैनल व दो छोटे मराठी चैनल शामिल

By: विकास गुप्ता

Updated: 08 Oct 2020, 09:41 PM IST

मुंबई। मुंबई पुलिस ने गुरुवार को एक बड़ा खुलासा करते हुए बताया कि तीन निजी चैनलों ने पैसे देकर TRP (Television Rating Point) को बढ़ाने का काम किया है। मुंबई पुलिस के मुताबिक, फॉल्स टीआरपी का रैकेट चल रहा था। इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है। मुंबई पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने सनसनीखेज दावा करते हुए कि उन्होंने फर्जी टीआरपी रैकेट का फांडाफोड़ किया है। इस कार्रवाई को सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एक हिंदी न्यूज चैनल द्वारा दिखाई जा रही कवरेज से भी जोड़ा जा रहा है।

मुंबई पुलिस की ओर से की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस कमिश्नर ने बताया कि मुंबई पुलिस को तीन चैनलों का पता चला है जहां पर टीआरपी रैकेट के जरिए पैसा देकर टीआरपी को मैन्युपुलेट किया जाता है। इनमें एक बड़ा चर्चित हिंदी न्यूज चैनल व दो छोटे मराठी चैनल शामिल हैं। दोनों छोटे चैनलों के मालिकों को हिरासत में ले लिया गया है। ये चैनल पैसा देकर लोगों के घरों में चलवाते थे। मुंबई पुलिस ने दावा किया कि उन्हें ऐसी सूचना मिली थी कि पुलिस के खिलाफ फर्जी प्रोपगेंडा चलाया जा रहा है।

विकास गुप्ता
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned