मुजफ्फरपुर: टीआईएसएस रिपोर्ट का खुलासा, कर्मचारियों को थी लड़कियों का यौन शोषण करने की आजादी

मुजफ्फरपुर: टीआईएसएस रिपोर्ट का खुलासा, कर्मचारियों को थी लड़कियों का यौन शोषण करने की आजादी

Mohit sharma | Publish: Aug, 14 2018 08:39:41 AM (IST) क्राइम

अब टीआईएसएस रिपोर्ट से सामने आया है कि शेल्टर होम में रहने वाली लड़कियों का लगातार यौन शोषण किया जाता था।

नई दिल्ली। मुजफ्फरपुर शेल्टर होम में लड़कियों के यौन उत्पीड़न मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। अब टीआईएसएस रिपोर्ट से सामने आया है कि शेल्टर होम में रहने वाली लड़कियों का लगातार यौन शोषण किया जाता था। 111 पन्नों की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि यह शेल्टर होम संदिग्ध तरीके से संचालित किया जा रहा था। यहां तक कि शेल्टर होम में कई बड़ी हिंसक घटनाएं भी सामने आईं थी।

केरल: चर्च दुष्कर्म केस में आरोपी दो पादरियों ने किया सरेंडर, हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका

टीआईएसएस रिपोर्ट से खुलासा हुआ

टीआईएसएस रिपोर्ट से खुलासा हुआ है कि मुजफ्फरपुर आश्रय केंद्र में लड़कियों का बेहद यौन उत्पीड़न किया जाता था, जबकि विरोध करने पर लड़कियों के साथ हिंसक घटनाएं भी की जाती थी। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि यहां कम और अधिक उम्र की लड़कियों के साथ खूब यौन शोषण और यौन हिंसा की घटनाओं को अंजाम दिया जाता था। यहां तक कि शेल्टर होम में तैनात पुरुष कर्मचारी तक चलते फिरते इन लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और अभद्रता करते थे।

दिल्ली में खुफिया एजेंसियों का अलर्ट, आतंकी हमला करने की फिराक में जैश ए मोहम्मद

लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और खींचतान

रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि शेल्टर होम में तैनात कर्मचारियों को यहां लड़कियों के साथ कुछ भी करने की आजादी थी और वो बेखौफ होकर लड़कियों के साथ छेड़छाड़ और खींचतान करते थे। आलम यह है कि ये कर्मचारी बे रोकटोक लड़कियों के कमरों में घुस जाते थे और उनके साथ गंदी हरकतें करते थे। इन लड़कियों को शेल्टर होम से बाहर जाने की अनुमति नहीं थी। यहां तक कि अगर लड़कियां अपने परिजनों सेमिलने की बात करती थी तो उनके साथ नरकीय व्यवहार किया जाता था। इसके लिए इन लड़कियों के साथ मारपीट से लेकर यौन हिंसा तक की घटनाओं को अंजाम दिया जाता था।

Ad Block is Banned