बुराड़ी में नया बवालः पूरे इलाके में लगे हैं ऐसे पोस्टर जो बिगाड़ सकते हैं माहौल

pritesh gupta

Publish: Jul, 13 2018 07:30:40 PM (IST)

क्राइम
बुराड़ी में नया बवालः पूरे इलाके में लगे हैं ऐसे पोस्टर जो बिगाड़ सकते हैं माहौल

सांप्रदायिक दुर्भावना से लगाए गए इन पोस्टरों में कश्मीर, हिंदू-मुसलमान और जिहाद जैसे मसलों पर टिप्पणी की गई है। पूरे इलाके में इस तरह के पोस्टर कई जगहों पर लगाए गए हैं।

नई दिल्ली। राजधानी के बुराड़ी इलाके में पिछले कई दिनों से दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच भाटिया परिवार में हुई 11 मौतों का रहस्य जानने में लगी है। इसी इलाके में अब ऐसे पोस्टर लगे मिले हैं जो देश की फिजा खराब कर सकते हैं। सांप्रदायिक दुर्भावना से लगाए गए इन पोस्टरों में कश्मीर, हिंदू-मुसलमान और जिहाद जैसे मसलों पर टिप्पणी की गई है। पूरे इलाके में इस तरह के पोस्टर कई जगहों पर लगाए गए हैं। गौर करने वाली बात यह है कि इस पोस्टर पर एक कथित हिंदू संगठन के अध्यक्ष ने अपनी तस्वीर भी लगा रखी है।

क्या लिखा है इन पोस्टरों में?

- कश्मीरी जिहादी मुसलमानों को पाकिस्तान भगाओ
- मुसलमानों को भगाओ, पीड़ित कश्मीरी हिंदुओं को बसाओ
- कश्मीर बचाओ, धारा 370 हटाओ

पाकिस्तान नहीं जुटा सका सिंधु पर बांध बनाने की रकम, चीफ जस्टिस ने बना दिया युद्ध जैसा माहौल

किसने लगवाए पोस्टर?

प्राप्त जानकारी के मुताबिक इन विवादित पोस्टरों पर खुद को स्वदेशी हिंदू एकता मंच का अध्यक्ष बताने वाले बालकिशन सिनसिनवार नाम के एक शख्स की फोटो भी लगी है। हालांकि अभी तक पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई किए जाने की बात सामने आई है। लेकिन यह स्पष्ट है कि जिस तरह की भाषा इसमें इस्तेमाल की गई है उससे सौहार्दपूर्ण माहौल बिगड़ सकता है।

फोटो खींचना मना हैः पीएम बोले 'बेकार की बात है' तो चंद घंटों में हट गए बोर्ड

अभी यह है कश्मीर का हाल

गौरतलब है कि अनुच्छेद 370 को लेकर देश में लंबे समय से बवाल चल रहा है। इसे लेकर सुप्रीम कोर्ट में भी याचिका दायर की जा चुकी है। फिलहाल जम्मू-कश्मीर में कोई सरकार नहीं है और वहां राज्यपाल शासन चल रहा है। इससे पहले भाजपा के सहयोग से मुख्यमंत्री बनीं महबूबा मुफ्ती ने कश्मीरी पंडितों को वापस अपनी बुनियाद की ओर लौटने के लिए कहा था और साथ ही सुरक्षा का आश्वासन भी दिया था।

 

ट्रंप-पुतिन की मुलाकात से पहले अमरीका ने कर दी रूस की आलोचना, अभिव्यक्ति की आजादी पर उठाए सवाल

Ad Block is Banned