नन गैंगरेप : गुस्साए लोगों ने रोका ममता बनर्जी का काफिला

नन गैंगरेप : गुस्साए लोगों ने रोका ममता बनर्जी का काफिला

पीडित नन से मिलने के लिए नदिया जिले के रानाघाट पहुंची सीएम को लोगों के जबर्दस्त विरोध का सामना करना पड़ा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के नदिया के कॉन्वेंट स्कूल में 71 साल की एक नन के साथ गैंगरेप की घटना पर सोमवार को मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को विरोध का सामना करना पड़ा। पीडित नन से मिलने के लिए नदिया जिले के रानाघाट पहुंची सीएम को लोगों के जबर्दस्त विरोध का सामना करना पड़ा। स्थानीय लोगों और प्रदर्शनकारी छात्रों ने ममता बनर्जी का काफिला रोक लिया और दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की।

ममता ने दिया कठोर कार्रवाई का भरोसा मीडिया से बात करते हुए ममता बनर्जी ने कहा कि दोषियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने राज्य सचिवालय में संवाददाताओं से कहा, दोषी कहीं भी हों, उनके खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की जाएगी। हम इसके लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा, हमने सभी जरूरी उपकरणों के साथ अपनी टीम को जांच के लिए भेजा है और जल्द ही दोषियों को पकड़ लिया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा, जो लोग इस तरह के अपराध करते हैं, वे इंसान नहीं होते, हमारी संवेदनाएं पीडित के साथ हैं जो हमारी मां समान हैं। दोषी पूरे समाज के लिए एक कलंक हैं। ममता ने इस संवेदनशील मुद्दे पर पूरा ध्यान देने की बात कही और साथ ही कहा, हमने शुरू में ही इस घटना की भर्त्सना की थी।

तलाशी अभियान जारी इसी बीच दोषियों का पता लगाने के लिए सोमवार को जमकर तलाशी अभियान चलाया गया। घटना के सिलसिले में कुल 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है। नाडिया के पुलिस अधीक्षक अर्णब घोष ने कहा कि जिले में आरोपियों की गहन तलाश की जा रही है। गौरतलब है कि शनिवार को कुछ लोगों ने 71 साल की नन के साथ कथित रूप से गै ंगरेप किया था। घटना को लेकर सीआईडी जांच का आदेश दिया गया है।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned