जम्‍मू-कश्‍मीर : युवा पीडीपी नेता व़हीद पर हुए हमले की उमर अब्‍दुल्‍ला ने की हत्‍या

जम्‍मू-कश्‍मीर : युवा पीडीपी नेता व़हीद पर हुए हमले की उमर अब्‍दुल्‍ला ने की हत्‍या

Mazkoor Alam | Publish: Aug, 15 2018 10:04:36 PM (IST) क्राइम

पीडीपी के कई नेताओं ने इस वारदात पर अपना पुरजोर विरोध दर्ज कराया था तो अब वहीं नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के नेता उमर अब्दुल्ला ने भी इसकी निंदा की है।

श्रीनगर : स्‍वतंत्रता दिवस से दो दिन पहले पीडीपी(पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी) की युवा इकाई के अध्यक्ष वहीद पारा पर जम्मू एवं कश्मीर के बडगाम जिले में गोली मार कर हत्या के प्रयास का मामला अब राजनीतिक रंग लेता जा रहा है। पीडीपी के कई नेताओं ने इस वारदात पर अपना पुरजोर विरोध दर्ज कराया था तो अब वहीं इस मामले में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कॉन्फ्रेंस पार्टी के नेता उमर अब्दुल्ला भी कूद पड़े हैं। उन्‍होंने टवीट कर इस घटना की कड़ी निंदा की है। उन्होंने अपने एक ट्वीट में लिखा है- ‘पीडीपी नेता वहीद-उर-रहमान पर हुए हमले की मैं कड़ी निंदा करता हूं। आगे अपने ट्वीट में उन्‍होंने कहा कि मतभेदों को दूर करने और लोगों की राय बदलने के लिए हिंसा का रास्ता ठीक नहीं है।’

ये है मामला
स्‍वतंत्रता दिवस से दो दिन पहले सोमवार को वहीद पारा पर जम्मू एवं कश्मीर के बडगाम जिले में गोली मार कर हत्या का प्रयास किया गया था। वह इस हमले में बाल-बाल बच गए। खबर के अनुसार, पारा सोमवार की शाम एक शोक सभा से लौट रहे थे, जब चाडूरा इलाके में उनके बुलेट प्रूफ वाहन पर एक मोटरसाइकिल सवार बंदूकधारियों ने उन पर गोलीबारी की। गाड़ी बुलेटप्रूफ होने के कारण वह बाल-बाल बच गए। एक पुलिस अधिकारी ने नाम नहीं जाहिर करने की शर्त पर बताया कि गोलियों से वाहन क्षतिग्रस्त हुआ, पर वह हमले में बेदाग बच गए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। खबरों के मुताबिक, उन पर यह हमला जम्मू-कश्मीर के बडगाम जिले के चदूरा इलाके में हुआ। अभी तक किसी भी आतंकी संगठन ने घटना की जिम्मेदारी नहीं ली है। पुलिस ने मामला दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है। इस हमले के पीछे वह आतंकवादियों का हाथ मान रही है।

शोकसभा से लौट रहे थे
पीडीपी के इस युवा नेता ने बताया कि उनके एक अंगरक्षक की मां का निधन पिछले दिनों हो गया था। वह उसी शोकसभा में अपने अंगरक्षक को सांत्वना देने गए थे। जब वह वहां से वापस लौट रहे थे, तभी मोटरसाइकिल पर आए अज्ञात हमलवारों ने उन पर फायरिंग शुरू कर दी। संयोग से उनकी कार बुलेटफ्रूफ थी। इस वजह से गोलियों का असर कार पर ज्‍यादा नहीं हुआ और वह बाल-बाल बच गए। गोलियां उनकी गाड़ी पर लगीं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned