पाक सेना और आईएसआई ने 3 आतंकी संगठनों को सौंपी नई जिम्‍मेदारी, हो सकता है 26/11 जैसा हमला

पाक सेना और आईएसआई ने 3 आतंकी संगठनों को सौंपी नई जिम्‍मेदारी, हो सकता है 26/11 जैसा हमला

Dhirendra Kumar Mishra | Updated: 07 Oct 2019, 03:24:41 PM (IST) क्राइम

  • आतंकी संगठनों ने बनाई हमले की योजना
  • पाक सेना और आइएसआई ने सौंपी आतंकी संगठनों को जिम्‍मेदारी
  • सैन्‍य ठिकानों, पुलिस संस्‍थानों और सार्वजनिक स्‍थानों पर हमला संभव

नई दिल्‍ली। पाकिस्‍तान की सेना और आईएसआई ने अनुच्‍छेद 370 समाप्‍त करने का बदला लेने के लिए लश्कर-ए-तैयबा, हिजबुल मुजाहिदीन और जैश-ए-मोहम्मद को जम्मू-कश्मीर सहित भारत के अन्य हिस्सों में आतंकी हमले की जिम्‍मेदारी सौंपी है। इन हमलों का मकसद राजनीतिक और पुलिस अधिकारियों के ठिकानों पर आतंकी हमलों को अंजाम देना है। इस लक्ष्‍य हासिल करने के लिए आतंकी संगठनों को अलग-अलग जिम्‍मेदारी सौंपी गई है।

जैश ए मोहम्‍मद को राष्ट्रीय राजमार्ग पर हमले को अंजाम देने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। लश्‍कर ए तैयबा को आंतरिक सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले को करने की जिम्मेदारी दी गई है, जबकि हर्फ को शटडाउन सुनिश्चित करने के लिए कार्य सौंपा गया है।

पुलवामा में हुई गुप्‍त बैठक

खुफिया जानकारी के हवाले से कहा गया है कि पिछले सप्ताह पुलवामा के एक गुप्‍त स्थान पर इन आतंकी संगठनों के शीर्ष पदाधिकानियों की एक बैठक आयोजित की गई थी। बैठक में जहां तीन आतंकवादी समूहों को पाक सेना और आईएसआई द्वारा सौंपी गई जिम्मेदारियों के बारे में जानकारी दी गई थी।

घाटी में अशांति और भय का माहौल बनाना

खुफिया एजेंसियों ने जानकारी दी है कि आतंकी संगठन अपने आकाओं के आदेश पर कश्‍मीर घाटी सहित भारत के कुछ हिस्सों में 26/11 जैसे आतंकी हमलों को अंजाम देने की योजना पर काम कर रहे हैं। आतंकी संगठन सैन्‍य ठिकानों, सार्वजनिक स्‍थानों, पुलिस अधिकारियों के ठिकानों व दफ्तरों पर बल विस्‍फोट सहित राजनीतिक व्‍यक्तियों की हत्‍या करना भी शामिल है।

जानकारी के मुताबिक हिजबुल मुजाहिदीन को अशांति पैदा करने और स्थानीय लोगों को निशाना बनाने के लिए कहा गया है। इन आतंकवादी संगठनों को घाटी में बंद सुनिश्चित करने और विकास कार्यों को ठप करने की जिम्‍मेदारी सौंपी गई है। इन हमलों को देखते हुए खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षा बलों को अलर्ट रहने को कहा है।

Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned