बांसवाड़ा : 10 हजार की रिश्वत लेने वाले एएसआई को मिली ऐसी सजा, शर्म के मारे किसी के सामने भी नहीं आ पाएगा

सदर थाने का एएसआई योहन कुमार निलंबित, गत दिनों बांसवाड़ा एसीबी ने किया था दस हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार

By: Ashish vajpayee

Published: 19 Jan 2018, 11:20 PM IST

बांसवाड़ा. गत दिनों भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो बांसवाड़ा चौकी के हत्थे चढ़े दस हजार रुपए की रिश्वत लेने के आरोपित सदर थाने के एएसआई योहन कुमार को शुक्रवार को निलंबित कर दिया गया। पुलिस अधीक्षक कालूराम रावत ने बताया कि दस जनवरी को एएसआई योहन कुमार को एसीबी बांसवाड़ा ने रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था। इसमें प्रकरण दर्ज होने के बाद प्राप्त हुई दुराचरण की रिपोर्ट के बाद आरोपित को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही मुख्यालय वृत घाटोल कर दिया गया है।

उल्लेखनीय है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की बांसवाड़ा टीम ने आरोपित कृष्णा रेजीडेंसी निवासी योहन कुमार निनामा (54) पुत्र बालूजी निनामा के खिलाफ निचली महुड़ी निवासी कांतिलाल पुत्र वीरजी मईड़ा एवं हवजी पुत्र हीरजी मईड़ा ने आठ जनवरी 2018 को ब्यूरो कार्यालय में शिकायत दर्ज कराई, जिसमें बताया कि आरोपित योहन कुमार गत दिनों मोरड़ी मिल में हुई चोरी के आरोपित विनोद मईड़ा व राघव मईड़ा को दोबारा न्यायालय के आदेश से जिला कारागृह से प्रोडेक्शन वारंट से नहीं लेने एवं इन दोनों को अन्य चोरियों के प्रकरण में आरोपी नहीं बनाने के एवज में बतौर रिश्वत पन्द्रह हजार रुपयों की मांग कर रहा है। इसके बाद ब्यूरो ने आरोपित को गिरफ्तार किया।

प्रिंसिपल 25 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

बांसवाड़ा. गांगड़तलाई. भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की चित्तौडगढ़़ टीम ने गुरुवार को जिले के सल्लोपाट थाना इलाके के मोटी टिंबी राजकीय सीनियर सैकण्डरी विद्यालय के प्रिंसिपल को पोषाहार के बिल पास करने की एवज में 25 हजार की रिश्वत लेते हुए उसके कक्ष के बाहर रंगे हाथों गिरफ्तार किया। ब्यूरो के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक चिरंजीलाल मीणा ने बताया कि आरोपित गांगड़तलाई निवासी प्रिंसिपल नरेश कुमार टेलर पुत्र गणपत लाल ने रिश्वत राशि पोषाहार प्रभारी एवं विद्यालय के पीटीआई आनंद कुलासावा से ली थी। पोषाहार बिल पास करने के लिए टेलर ने 35000 बतौर रिश्वत मांगी थी। मीणा ने बताया कि 14 जनवरी को मोटी टिम्बी निवासी परिवादी शारीरिक शिक्षक आनंद कलासुआ ने एक शिकायत दर्ज कराई थी, जिसमें उसने बताया कि स्कूल के प्रिंसिपल की ओर से बिल पास करने के एवज में रिश्वत राशि की मांग की जा रही है।

Show More
Ashish vajpayee
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned