बिहार: गर्भवती महिला समेत उसके 3 बच्चों की गला रेतकर हत्या, पुलिस को शक- जमीन विवाद या पति का हाथ?

बिहार: गर्भवती महिला समेत उसके 3 बच्चों की गला रेतकर हत्या, पुलिस को शक- जमीन विवाद या पति का हाथ?

Shweta Singh | Publish: May, 17 2019 02:07:37 PM (IST) क्राइम

  • बिहार के अररिया जिले से सामने आया सनसनीखेज मामला
  • महिला और उसके तीन बच्चों की गला रेतकर बेरहमी से हत्या
  • घटना के वक्त घर से बाहर गया था पति, पुलिस ने FIR दर्ज कर जांच शुरू की

नई दिल्ली। बिहार के अररिया जिले से एक सनसनीखेज वारदात की जानकारी मिल रही है। जिले के बैरगाछी सहायक थाना (ओपी) क्षेत्र में गुरुवार की रात एक महिला और उसके तीन बच्चों की गला रेतकर बेरहमी से हत्या कर दी गई। पुलिस ने इस मामले की जानकारी देते हुए आशंका जताई है कि पहली बार देखने से लग रहा है कि हत्या के पीछे भूमि विवाद कारण है।

गर्भवती महिला और उसके तीन बच्चों की निर्मम हत्या

जिस महिला की हत्या हुई वह गर्भवती थी। पुलिस के अनुसार, माधोपाड़ा गांव में गुरुवार देर रात एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या गला रेतकर कर दी गई। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, 'माधोपाड़ा गांव निवासी आलम रात को घर से बाहर शौच के लिए गया हुआ था। इसी बीच कुछ लोग उसके घर में घुस आए। हमलावरों ने उनकी 30 वर्षीय पत्नी तबस्सुम बेटे समीर, बेटी आलिया और बेटे शब्बीर की गला रेत कर हत्या कर दी।' पुलिस ने बताया कि बेटी आलिया की उम्र 6 वर्ष थी, वहीं एक बेटा समीर चार वर्ष और दूसरा बेटा शब्बीर आठ वर्ष का था।

यह भी पढ़ें-राहुल गांधी के 'Modilie' दावे पर ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी की सफाई, तस्वीर को बताया फेक

जमीन विवाद के कारण हत्या?

बताया जा रहा है कि इस हत्याकांड के दौरान शोर सुनने के बाद आसपास के लोग जब तक घर पहुंच पाते, इतने में ही अपराधी कमरे की टूटी हुई खिड़की से भाग निकले। अररिया के पुलिस उपाधीक्षक के डी सिंह ने वारदात की जानकारी देते हुए शुक्रवार को जानकारी दी कि, 'इस घटना के पीछे जमीन विवाद बताया जा रहा है। महिला के पति आलम का आरोप है कि जमीन विवाद के कारण से हत्या हुई है।' हालांकि पुलिस को मृतका के पति की भूमिका पर भी शक है।

गांव के चार लोगों के खिलाफ FIR दर्ज

पुलिस उपाधीक्षक सिंह ने कहा कि पुलिस पूरे मामले की छानबीन कर रही है। मृतक के पति के बयान के आधार पर बैरगाछी ओपी में हत्या की एक प्राथमिकी (FIR) दर्ज कर ली गई है। FIR में गांव के ही चार लोगों को नामजद आरोपी बनाया गया है। पुलिस आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है।

यह भी पढ़ें मालेगांव ब्लास्ट मामले में NIA कोर्ट का आदेश- प्रज्ञा ठाकुर सहित सभी आरोपी हफ्ते में एक बार अदालत में हों पेश

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned