दिल्ली से बिस्कुट-जूस के पैकेट में मौत का सामान भेजता था नाइजीरियन, युवक-युवती करते थे कार से सप्लाई

पंजाब पुलिस ने लुधियाना के खन्ना जिला से दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। यह दोनों पुलिस को धोखा देने के लिए जूस और बिस्कुट के डिब्बों में हेरोइन की स्मगलिंग करते थे।

चंडीगढ़। पंजाब पुलिस ने लुधियाना के खन्ना जिला से दो तस्करों को गिरफ्तार किया है। यह युवक-युवती मौत के सामान की सप्लाई करते थे। इन दोनों का तस्करी का तरीका भी बड़ा अलग था। यह दोनों पुलिस को धोखा देने के लिए जूस और बिस्कुट के डिब्बों में हेरोइन की स्मगलिंग करते थे। पुलिस ने इन दोनों के कब्जे से 4 किलोग्राम हेरोइन बरामद की है।

खन्ना के एसएसपी ध्रुव दाहिया ने पत्रकार वार्ता में इन चालाक तस्करों का खुलासा किया। उन्होंने बताया कि प्रिंसटाइन मॉल के सामने पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाई हुई थी और वाहनों की जांच की जा रही थी। पुलिस की टीम में एंटी नारकोटिक्स सेल इंचार्ज मनजीत सिंह, एएसआई सुखवीर सिंह और सिटी थाना-2 के प्रभारी रजनीश सूद शामिल थे।

पंजाब पुलिस

 

इस दौरान वाहनों की जांच में जुटे पुलिसकर्मियों ने देखा कि बैरिकेडिंग देखकर मंडी गोबिंदगढ़ की ओर से आ रही एक कार वापस मुड़कर जाने लगी। आनन-फानन में पुलिस ने कार को रोक लिया। पुलिस ने कार चालक की पहचान जालंधर डिवीजन नंबर 1, मकसूदां थाना स्थित आनंदपुर रोड निवासी आनंदकुमार की। जबकि उसके बगल की सीट पर मिजोरम की रहने वाली शिवांगी बैठी थी।

कार वापस किए जाने के बारे में पूछने पर दोनों सही जवाब नहीं दे सके जिससे पुलिस को उनपर शक हुआ। पुलिस ने वाहन की तलाशी ली तो उन्हें कुछ नहीं मिला। इसके बाद पुलिस ने शिवांगी के पास रखे बैग में जूस के चार और बिस्कुट के तीन डिब्बों को जांचा, तो इसमें चार किलो हेरोइन बरामद हुई। पुलिस ने तुरंत दोनों को पकड़ लिया।

पुलिस पूछताछ में पता चला कि यह हेरोइन उन्हें मूल रूप से नाइजीरिया के रहने वाले माइक ने दी थी, जो फिलहाल दिल्ली के नवादा में रहता है। दोनों को यह हेरोइन जालंधर में सीचा के रहने वाले गुरभेज सिंह और तोतियां थाना सुल्तानपुर लोधी निवासी काला को पहुंचानी थी।

इतना ही नहीं पुलिस को इस दौरान यह भी पता चला कि शिवांगी बीते दो माह में तकरीबन 9 बार हेरोइन की खेप सप्लाई कर चुकी है। यह भी खुलासा हुआ कि कार चालक आनंद कुमार को यह स्मगलर, हेरोइन सप्लाई करने के एवज में चार हजार रुपये दिहाड़ी देते थे।

Show More
अमित कुमार बाजपेयी
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned