हल्दीराम के सर्वर पर Ransomware का हमला, हैकर्स ने की साढ़े पांच करोड़ रुपए क मांग

  • देश की नामी कंपनी हल्दीराम के सर्वर पर Cyber attack
  • हैकर्स ने डाटा लौटाने की एवज में कंपनी से मांगे पांच करोड़ रुपए

By: Mohit sharma

Updated: 18 Oct 2020, 12:31 AM IST

नई दिल्ली। देश की नामचीन फूड एंड पैकजिंग कंपनी हल्दीराम ( Haldiram ) से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है। हल्दीराम के सर्वर पर साइबर अटैक किया गया है। केस की छानबीन में जुटी नोएडा साइबर सेल ने जांच में पाया कि यह एक रैनसमवेयर अटैक ( Ransomware attack ) था। इस साइबर अटैक के जरिए अटैकर्स ने एक वायरस के माध्यम से डेटा को लॉक कर दिया, जिसके बाद सिस्टम से वह डेटा डिलीट शो होने लगा। डाटा की वापसी के लिए हैकर्स ने हल्दीराम से 5.5 करोड़ रुपए की फिरौती मांगी। मामले की जानकारी मिलने पर कंपनी ने नोएडा साइबर सेल को इसकी सूचना दी। साइबर सेल की ओर से की गई जांच के बाद नोएडा सेक्टर 58 पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किया गया। फिलहाल नोएडा पुलिस और साइबर सेल केस की जांच में जुटी हैं

Corona Vaccine को लेकर आई अच्छी खबर, रूसी दवाई का दूसरे व तीसरे चरण का ट्रायल होगा शुरू

कंपनी की कई महत्वपूर्ण फाइलें भी डिलीट

पुलिस के अनुसार फूड एवं पैकेजिंग कंपनी हल्दीराम ने नोएडा सेक्टर 62 स्थित सी-ब्लॉक में अपना एक कॉरपोरेट ऑफिस बना रखा है। दरअसल, यहां से कंपनी का आईटी विभाग संचालित होता है। हल्दीराम कंपनी के डीजीएम आईटी अजीज खान ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि बीती 12 और 13 जुलाई की रात लगभग 1.30 बजे पर कॉर्पोरेट ऑफिस के सर्वर को निशाना बनाया गया। इस साइबर अटैक की वजह से कंपनी के मार्केटिंग बिजनेस और अन्य डिपार्टमेंट का डाटा गायब हो गया। इसमें कंपनी की कई महत्वपूर्ण फाइलें भी शामिल थीं।

Coronavirus पर वैश्विक बैठक को संबोधित करेंगे PM Modi, इन मुद्दों पर भी होगी चर्चा

कंपनी से चैटिंग में मांगे 5.5 करोड़ रुपए

साइबर अटैक की जानकारी मिलते ही कंपनी ने सबसे पहले इसकी आंतरिक जांच कराई। इसके बाद कंपनी के अधिकारियों और हैकर्स के बीच चैटिंग भी हुई। इस चैटिंग के माध्यम से हैकर्स ने कंपनी से डेटा लौटाने की एवज में 5.5 करोड़ रुपए मांगे।

Coronavirus पर PM Modi की समीक्षा बैठक, वैक्सीन को लेकर दिया बड़ा अपडेट

आईपी एड्रेस के माध्यम से लिखा रैनसमवेयर अटैक

साइबर सेल के अनुसार कंपनी को अटैक का पता तब चला जब रात करीब 1.30 बजे कंपनी मैनेजमेंट को कुछ गड़बड़ी की जानकारी मिली। कंपनी को पता चलते ही आईटी इंजीनियर्स एक्टिव हो गए। क्योंकि हैकर्स ने सर्वर को निशाना बनाया था, इसलिए सभी सिस्टम इसकी जद में आ गए। हालांकि इंजीनियर्स ने सतर्कता दिखाते हुए सर्वर कनेक्शन भी काट दिया, लेकिन तब तक हैकर्स अपना काम कर चुके थे। घटना को अंजाम देने के बाद हैकर्स ने आईपी एड्रेस के माध्यम से सभी कम्प्यूटर स्क्रीन पर रैनसमवेयर अटैक लिख दिया।

Show More
Mohit sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned