scriptRape Case: सीसीटीवी हो गए तलाशी में फेल, एक मोबाइल ने पहुंचा दिया आरोपी तक | Rape Case: When CCTV also failed in the search, mobile led to the accused | Patrika News
क्राइम

Rape Case: सीसीटीवी हो गए तलाशी में फेल, एक मोबाइल ने पहुंचा दिया आरोपी तक

परिवार के साथ जियारत के लिए आई बालिका 18 जून की रात्रि परिवार के साथ रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार पर सो रही थी।

अजमेरJun 21, 2024 / 11:34 am

raktim tiwari

Ajmer Minor Rape case

Ajmer Minor Rape case

परिवार के साथ जियारत के लिए आई बालिका 18 जून की रात्रि परिवार के साथ रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार पर सो रही थी।

रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म पर परिवार के साथ सो रही 11 साल की मासूम बालिका को अगवाकर बलात्कार करने के आरोपी को जीआरपी थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपी ने चार पव्वा शराब पीने के बाद घिनौनी वारदात अंजाम दी। पुलिस ने उसे बापर्दा रखा है।
जीआरपी अधीक्षक राममूर्ति जोशी ने बताया कि एमपी से परिवार के साथ जियारत के लिए आई बालिका 18 जून की रात्रि परिवार के साथ रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर चार पर सो रही थी। आरोपी ने उसे अगवाकर यार्ड में खड़ी अजमेर-गंगापुर डेमू ट्रेन के कोच में बलात्कार किया। पीडि़त परिवार की रिपोर्ट पर जीआरपी और आरपीएफ ने सर्च ऑपरेशन चलाया। इस दौरान मासूम ट्रेन के कोच में अचेतावस्था में मिली।
वारदात के बाद पहुंचा फुलेरा

आरोपी आष्टी की ढाणी काचरोदा निवासी अमरचंद कुमावत उर्फ टीकम (30) बलात्कार के बाद 19 जून को सुबह 6 बजे ट्रेन से फुलेरा पहुंचा। उसने रेलवे स्टेशन पर लगे नल पर कपड़े धोए और उन्हीं को पहनकर जयपुर-कनकपुरा रवाना हो गया। आरोपी पेशे से दिहाड़ी मजदूर है। पुलिस ने फुलेरा में उसके परिवार से पूछताछ की। इसमें अविवाहित होने के साथ शराब पीने का आदी बताया गया है। जीआरपी ने बलात्कार व पोक्सो एक्ट में प्रकरण दर्ज किया है।
मोबाइल से लगा अहम सुराग

पुलिस ने वारदात के बाद रेलवे स्टेशन और ट्रेनों की छानबीन की। रेलवे स्टेशन सहित आस-पास के मकानों, दुकानों और अभय कमांड सेंटर के सीसीटीवी फुटेज खंगाले। इस दौरान अजमेर-गंगापुर डेमू ट्रेन में आरोपी का मोबाइल पड़ा मिला। इसी मोबाइल से पुलिस को अहम सुराग मिले। मोबाइल के आईएमईआई नंबर, सिम से जानकारी जुटाई।
उतरना था फुलेरा, पहुंच गया अजमेर

आरोपी ने जयपुर से रवाना होने के बाद चार पव्वे शराब गटकी। नशे में इस कदर मदहोश था कि उसे फुलेरा के निकट अपने गांव उतरने तक का होश नहीं रहा। अजमेर रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद उसे होश आया।
ट्रेन के पास सो रहा था परिवार

एसपी जोशी ने बताया कि प्लेटफॉर्म नंबर 4 पर गंगापुर-अजमेर ट्रेन के पास ही पीडि़ता का परिवार सो रहा था। इस दौरान आरोपी ट्रेन में बैठा था। उसने प्लेटफार्म पर सो रही मासूम के साथ ट्रेन के कोच में वारदात अंजाम दी। पुलिस उसके साथ अन्य सहयोगी अथवा अन्य संभावनाओं के आधार पर जांच में जुटी है।
बालिका के 161 में बयान

बालिका के जबड़े में आठ टांके और तीन-चार दांत टूटने से उसे बोलने में तकलीफ हो रही है। पुलिस ने गुरुवार को उसके 161 में बयान दर्ज किए। अब 164 के बयान अदालत में मजिस्ट्रेट के समक्ष लिए जाएंगे। एफएसएल टीम ने पीडि़ता के ब्लड सैंपल, चूडि़यां, स्वाब, डीएनए व अन्य नमूने लिए। इन्हें फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा गया।
टीम में यह शामिल

उप निरीक्षक सोमेंद्र, आरपीएफ पोस्ट प्रभारी राजेंद्र चौधरी, सहायक उप निरीक्षक अशोक यादव, हैड कांस्टेबल भवानी सिंह, दिलीप सिंह, हीरालाल, संजय कुमार किशनसिंह, सुभाषचंद व अन्य।

स्टेशन पर बंद हैं सीसीटीवी
रेलवे स्टेशन पर कई हिस्सों में सीसीटीवी बंद है। इसके चलते जीआरपी को भी आरोपी को तलाशने में खासी दिक्कतें हुई। जीआरपी एसपी राममूर्ति जोशी ने भी कैमरों की कमी को स्वीकार किया है। हालांकि रेलवे प्रशासन ने विभिन्न स्थानों पर नए सीसीटीवी लगाने की बात कही है।
संदिग्धों पर निगरानी

वारदात के बाद आरपीएफ और जीआरपी ने संदिग्धों पर निगरानी शुरू की है। गश्त भी बढ़ाई गई है। सर्च ऑपरेशन भी चलाए जा रहे हैं। हालांकि स्टेशन पर दिन-रात लोगों की आवाजाही लगी रहती है। इसके चलते बड़ी कार्रवाई होना आसान नहीं है।

Hindi News/ Crime / Rape Case: सीसीटीवी हो गए तलाशी में फेल, एक मोबाइल ने पहुंचा दिया आरोपी तक

ट्रेंडिंग वीडियो