रेवाड़ी गैंगरेप केस: एसआईटी ने हिरासत में लिया एक शख्स, पीड़िता की मां का आर्थिक मदद से इनकार

रेवाड़ी गैंगरेप केस: एसआईटी ने हिरासत में लिया एक शख्स, पीड़िता की मां का आर्थिक मदद से इनकार

Mohit sharma | Publish: Sep, 16 2018 11:58:28 AM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 11:58:29 AM (IST) क्राइम

हरियाणा के महेंद्रगढ़ में 19 वर्षीय छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने एक शख्स को हिरासत में ले लिया है।

नई दिल्ली। हरियाणा के महेंद्रगढ़ में 19 वर्षीय छात्रा के साथ सामूहिक दुष्कर्म मामले में विशेष जांच दल (एसआईटी) ने एक शख्स को हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने शनिवार को कई लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था। वहीं, पीड़िता की मां ने किसी भी तरह के आर्थिक मदद और मुआवजा लेने से साफ इनकार कर दिया है। आपको बता दें कि गुरुवार को सामने आई सामूहिक दुष्कर्म की इस घटना के बाद से पुलिस पर आरोपियों की गिरफ्तारी को लेकर काफी दबाव था।

राहुल-मोदी पर केजरीवाल का तंज, मंदिर और मस्जिदों में घूमने से नहीं होगा राष्ट्र निर्माण

 

प्रकाश अांबेडकर के साथ मिलकर पीएम मोदी को झटका देंगे ओवैसी, 2019 के लिए होगा गठबंधन

आरोपियों में सेना के जवान पंकज सहित दो अन्य युवक मनीष और निशू हैं। सभी आरोपी पीड़िता के गांव के हैं। पुलिस ने शनिवार को एक स्थानीय क्लीनिक चलाने वाले को गिरफ्तार किया था, जिसे आरोपी युवकों ने बुधवार (12 सितंबर) को दुष्कर्म के बाद पीड़िता की हालत बिगड़ने पर बुलाया था। पुलिस अधिकारियों के अनुसार क्लीनिक चलाने वाले व्यक्ति ने पीड़िता को प्राथमिक उपचार दिया था। उसके बाद दुष्कर्मियों ने उसे धमकाया था। इसके साथ ही पुलिस ने उस स्थानीय किसान दयानंद को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की थी, जिसके खेतों के बीच बने कमरें में आरोपियों ने पीड़िता के साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया था।

संघ का निमंत्रण स्वीकार करने से ओवैसी का इनकार, हिंदू राष्ट्रवाद का प्रतिनिधित्व करता है आरएसएस

 

कश्मीर: सोपोर में सुरक्षाबलों ने मार गिराए जैश के 2 खूंखार आतंकी, 4 पुलिसकर्मियों के खून से रंगे थे हाथ

यह घटना उस समय हुई, जब वह कोचिंग के बाद घर लौट रही थी। आरोपियों ने उसे लिफ्ट देने के बहाने बस अड्डे से अगवा कर लिया और नशीला पेय पदार्थ पिलाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। पीड़िता के अनुसार आरोपियों ने उसे पीने के लिए पानी दिया, जिसमें नशीला पदार्थ मिला था। इसके बाद उसके होश में आने तक वे बारी-बारी से उसके साथ दुष्कर्म करते रहे। इसके बाद आरोपी उसे गांव के निकट बस अड्डे पर फेंक कर चले गए। यही नहीं एक आरोपी मनीष ने खुद पीड़िता के पिता को फोन कर पीड़िता को बस अड्डे से ले जाने के लिए भी कहा था।

 

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned