महिलाओं को इस तरह अपनी जाल में फंसाता था शख्स, फिर Cyanide खिलाकर करता था मर्डर, 20 को बनाया शिकार

  • Karnataka: मोहन नामक सीरियल किलर ने 20 महिलाओं को बनाया अपना शिकार
  • 'शादी कर बनाता था संबंध, फिर गहने लेकर कर देता था हत्या'
  • 'किलर सायनाइड' ( Cyanide Killer ) के नाम से भी मशहूर है Mohan

By: Kaushlendra Pathak

Published: 22 Jun 2020, 11:36 AM IST

नई दिल्ली। कर्नाटक ( Karnataka ) से एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने सनसनी मचा दी है। मंगलुरु ( mangalore ) में एक शख्स की दरिंदगी सुनकर सबकी रूह कांप गई। 'सायनाइड किलर' ( cyanide killer ) नाम से मशहूर यह शख्स बेहद खौफनाक तरीके से 20 महिलाओं को अपना शिकार बना चुका है। हालांकि, पुलिस ( Police ) की गिरफ्तर में आने के बाद अब कोर्ट ने उसे दोषी करार दिया है और जल्द ही उसकी सजा मुकर्रर की जाएगी।

20 महिलाओं को बना चुका है अपना शिकार

इस शख्स का नाम है मोहन ( Mohan )। लोग उसे सीरियल 'किलर सायनाइड' ( cyanide killer ) के नाम भी जानते हैं। मोहन को बलात्कार ( Rape ) और हत्या ( Murder ) का दोषी ठहराया गया है। बताया जा रहा है कि मोहन महिलाओं को अपने जाल में फंसाता था, फिर उसके साथ संबंध बनाता था और बाद में उसकी हत्या कर देता था। मोहन ने आखिरी वारदात को अंजाम को साल 2009 में दिया था, जो कि उसका 20वां शिकार था।

इस तरह रचता था साजिश

बताया जा रहा है कि साल 2009 में मोहन ने कासरगोड़ के गर्ल्स हॉस्टल ( Girls Hostel ) में खाना बनाने वाली महिला को अपना शिकार बनाया था। मोहन ने नेहा ( काल्पनिक नाम ) को पहले अपने प्यार की जाल में फंसाया। उसके बाद उससे शादी करने का वादा किया। आठ जुलाई 2009 को नेहा अपने घर से भाग गई और मोहन के साथ मंगलुरु आ पहुंची। नेहा के घरवालों ने जब उसे फोन किया तो नेहा ने बताया कि उसने शादी कर ली है और जल्द ही घर आएगी। इसके बाद मोहन नेहा को बस अड्डे के पास एक लॉज में ले गया और उसके साथ संबंध बनाए। इतना ही नहीं लॉज छोड़ने से पहलने मोहन ने महिला के सारे जेवरात कमरे में ही रखवा लिए। इसके बाद मोहन ने महिला को एक दवा की गोली खाने के लिए दी और कहा कि ये गर्भनिरोधक गोली है। जब महिला मोहन के साथ बस अड्डे पहुंची तो बेहोश होकर टॉयलेट के पास जा गिरी। बाद में एक पुलिसकर्मी ने उसे हॉस्पिटल पहुंचाया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। जांच में पता चला की महिला को सायनाइट ( Cyanide ) की गोली दी गई है। पुलिस ने मकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन शुरू कर दी।

ऐसे हुआ मामले का खुलासा

पुलिस ने मोहन को अक्टूबर 2009 में गिरफ्तार किया था। दरअसल, मोहन की फोटो देखकर एक महिला की बहन ने उसे पहचान लिया। मोहन को पांच मामलों में मौत की सजा और तीन मामलों में उम्रकैद की सजा सुनाई जा चुकी है। हालांकि, मौत की दो सजाओं को बाद में उम्रकैद में बदल दिया गया था। एक रिपोर्ट के मुताबिक, एक साल में ही मोहन ने 20 महिलाओं को अपना शिकार बनाया। दक्षिण कर्नाटक के 6 शहरों में अलग-अलग बस स्टैंड के पास बने टॉयलेट से 20 महिलाओं की लाश मिली थीं। पुलिस ने बताया कि मरने वाली सभी महिलाओं की उम्र 20-32 साल के बीच थी। सभी ने दुल्हन की ड्रेस पहनी थी और किसी के भी शरीर पर एक भी गहना नहीं था। इसके बाद एक-एक तार इस घटनाक्रम से जुड़ते गए और मोहन पुलिस की गिरफ्त में आ गया। इस घटना ने पूरे इलाके में हड़कंप मच दिया था। अब देखना ये है कि कोर्ट मोहन को क्या सजा सुनाती है।

Kaushlendra Pathak
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned