कम्प्यूटर बाबा ने क​हा कि चाहे नेता हो अफसर चोर है तो चोर ही कहलाएगा

नदियों को नुकसान पहुंचाने वाले चोरों को नहीं बख्शा जाएगा

By: Amit Mishra

Published: 21 Feb 2020, 11:50 AM IST

डबरा। अवैध रूप से रेत निकलकर नादियों को नुकसान पहुंचाने वाले चाहे वह नेता, अफसर या जनता क्यों न हो चोर तो चोर कहलाएगा, जो भी चोरी करेगा उसे बख्शा नहीं जाएगा। शिवराज सरकार होती तो आने वाले दिनों में नदियां ही नहीं बचती। यह बात मां नर्मदा, मां क्षिप्रा एवं मां मंदाकिनी नदी न्यास मप्र अध्यक्ष कम्प्यूटर बाबा ने गुरुवार डबरा भ्रमण के दौरान कही।

ताकि हरियाली बनी रहे

कम्प्यूटर बाबा ने कहा कि रेत नीति से रेत निकाली जाए। अवैध रूप से रेत खनन कर, नदियों को नुकसान नहीं पहुंचाया जाए। अवैध रूप से रेत का खनन किए जाने पर कार्रवाई की जाएगी। कमलनाथ सरकार में चोरों को नहीं बख्शा जाएगा। वे नदियों का निरीक्षण करने निकले है और नदियों को बचाने के लिए जिला प्रशासन से नदियों के किनारे पौधे लगाने के लिए कहा है, ताकि हरियाली बनी रहे।

अंकुश लगाने के लिए प्रयासरत
डबरा और भितरवार में अवैध रेत का उत्खनन जारी है और प्रशासनिक अधिकारियों की देखरेख में चल रहा है इस प्रश्न पर कम्प्यूटर बाबा बात को टालते हुए बोले कि मैं इस बात को नहीं मानता जिला प्रशासन जिस तरीके से काम कर रहा है, उससे ऐसा नहीं लगता कि यह कमलनाथ सरकार है, जो अंकुश लगाने के लिए प्रयासरत है।


यहां कभी नदी थी
नदियों से पनडुब्बियों के माध्यम से रेत निकालकर नदियों में गहरे गड्ढे कर दिए है। इस बात पर उन्होंने कहा कि शिवराज सरकार ने 15 साल में जिस ढंग से नदियों को खोद डाला है और यदि होती तो आने वाले दिनों में नदियां ही नहीं बचती, हम अपने बच्चों को क्या बताते कि यहां कभी नदी थी।


बैठक लेकर दिए पौधे लगाने के दिए निर्देश
कम्प्यूटर बाबा ने एसडीएम और तहसीलदार की बैठक लेते हुए कहा कि नदियों के किनारे हरियाली बनी रहे, इसे लेकर नदियों के किनारे पौध लगवाएं और देखरेख करें। बाद में एक ही रायुपर रेत घाट का निरीक्षण कर दतिया निकल गए, जिस खदान को कुछ दिन पहले बंद कर दिया था।

Show More
Amit Mishra
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned