डबरा का सिविल अस्पताल होगा 100 बिस्तरों का, स्वास्थ्य मंत्री ने लिया जायजा

'स्थल को लेकर अलग अलग बात आ रही थी। इसलिए साथ में आकर यह तय किया है कि अस्पताल परिसर में ही 100 बिस्तर के अस्पताल भवन का निर्माण कराया जाए। पहला प्रस्ताव 6 से 6.30 करोड़ के बीच राशि का है। जल्द ही राशि स्वीकृत कराकर, टेंडर लगाने की प्रक्रिया इसी माह प्रारंभ करने की कोशिश की जाएगी।' - डॉ. नरोत्तम मिश्र, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री

By: rishi jaiswal

Published: 14 Jun 2020, 11:02 PM IST

डबरा. सिविल अस्पताल अब 100 बिस्तरों की क्षमता का होगा। राज्य शासन की ओर से डबरा के सिविल अस्पताल के उन्नयन की स्वीकृति मिल चुकी है। लगभग ६ करोड़ की अधिक राशि से यहां पर बिस्तरों की संख्या को बढ़ाकर 100 किया जाएगा। रविवार को प्रदेश के गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने पूर्व मंत्री इमरती देवी के साथ सिविल अस्पताल परिसर का निरीक्षण किया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि जल्द ही राशि स्वीकृत कर टेंडर की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी।

सिविल अस्पताल में अभी जो पुरानी पुरानी बिल्डिंग है और क्वार्टर है उन्हें तोड़कर नए रूप में मल्टी भवन निर्माण किया जाएगा। इसे लेकर मंत्री ने सीएचएमओ के साथ चर्चा की। साथ ही उन्होंने प्रस्तावित ले आउट का अवलोकन भी किया। उन्होंने वर्तमान में अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी सीबीएमओ से ली। ग्वालियर से सीएमएचओ डॉ. एसके वर्मा, एसडीएम राघवेन्द्र पांडे, तहसीलदार नवनीत शर्मा और अनुपम पाठक समेत मुकेश गौतम, रामवीर घुरैया, सत्येन्द्र भार्गव समेत अन्य लोग मौजूद थे।

स्टाफ बढ़ेगा और सुविधाओं का लाभ मिलेगा - अस्पताल की क्षमता 100 बिस्तरों की हो जाने से सुविधाएं बढ़ जाएंगी। ऐसे में क्षेत्र के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य लाभ मिल सकेगा। डबरा सिविल अस्पताल के अंतर्गत 30 उप स्वास्थ्य केन्द्र आते है। इससे भितरवार समेत कई क्षेत्र के लोगों को लाभान्वित होंगे। 100 बिस्तर के अस्पताल में 50 स्टाफ नर्स और वर्तमान चिकित्सकों की संख्या भी दो गुना हो जाएगी।

मंत्री के आने से पहले अस्पताल को किया चाकचौबंद - मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा के आने से पहले सिविल अस्पताल प्रबंधन ने चाकचौबंद व्यवस्था कर ली थी। चिकित्सक समेत पूरा स्टाफ मौजूद हो गया था। फीवर क्लिनिक को बेहतर ढंग से सजाया गया था।

पहले ट्रेंचिंग ग्राउंड की जगह को किया था चिन्हित - 7 फरवरी को तत्कालिन कलेक्टर अनुराग चौधरी और पूर्व मंत्री इमरती देवी ने अस्पताल भवन निर्माण के लिए झांसी रोड स्थित नगर पालिका के ट्रेंचिंग ग्राउंड की जगह का निरीक्षण कर, जगह को चिन्हित किया था। इसके बाद करीब ४ बीघा की जमीन के अधिग्रहण के लिए, कवायद शुरू की थी।

इनकी सुनें - 'स्थल को लेकर अलग अलग बात आ रही थी। इसलिए साथ में आकर यह तय किया है कि अस्पताल परिसर में ही 100 बिस्तर के अस्पताल भवन का निर्माण कराया जाए। पहला प्रस्ताव 6 से 6.30 करोड़ के बीच राशि का है। जल्द ही राशि स्वीकृत कराकर, टेंडर लगाने की प्रक्रिया इसी माह प्रारंभ करने की कोशिश की जाएगी।'

- डॉ. नरोत्तम मिश्र, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned