विद्युत वितरण कंपनी ने दुर्घटनाओं को रोकने के लिए जारी की गाइड लाइन

बिजली कंपनी ने आंधी तूफान या अन्य किसी कारण से बिजली की लाइन टूटने कि सूचनाएं एकत्रित करने के लिए कंपनी ने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। इस नंबर पर कॉल करके लोग टूटी हुई लाइनों की सूचना दे सकते हैं। पिछले दिनों आए तेज आंधी तूफान से बिजली के काफी संख्या में खंबे टूट गए थे। इसके अलावा कई जगह फॉल्ट आए थे जिन्हें ठीक करने के लिए कंपनी को काफी मशक्कत करना पड़ी थी।

By: rishi jaiswal

Published: 29 May 2020, 08:02 AM IST

डबरा. बारिश से पहले आंधी तूफान की आशंकाओं को देखते हुए बिजली वितरण कंपनी ने कुछ गाइड लाइन जारी की है। गाइड लाइन के मुताबिक जिन खेतों से बिजली की लाइनें निकली हैं इन लाइनों के नीचे न तो किसान भूसा रख सकेंगे और न ही गोबर के कंडों का बिटौरा लगा सकेंगे। कारण लाइन के टूटने व शॉर्ट सर्किट की स्थिति में आग लगने की आशंका रहती है।

बिजली कंपनी ने आंधी तूफान या अन्य किसी कारण से बिजली की लाइन टूटने कि सूचनाएं एकत्रित करने के लिए कंपनी ने एक हेल्पलाइन नंबर जारी किया है। इस नंबर पर कॉल करके लोग टूटी हुई लाइनों की सूचना दे सकते हैं। पिछले दिनों आए तेज आंधी तूफान से बिजली के काफी संख्या में खंबे टूट गए थे। इसके अलावा कई जगह फॉल्ट आए थे जिन्हें ठीक करने के लिए कंपनी को काफी मशक्कत करना पड़ी थी।

इसके साथ ही काफी समय कंपनी को फॉल्ट ढूंढऩे लगा था क्योंकि बिजली की लाइन टूटने वाली जगहों की जानकारी लोगों द्वारा कंपनी को नहीं दी गई थी। यही कारण है कि कंपनी ने आंधी और तूफान की आशंका को देखते हुए पहले से ही कमर कस ली है। कंपनी ने पांच बिंदुओं की जो अपील जारी की है उसमें पहले ही बिंदु में यह गुजारिश की है कि लोग लाइन टूटने की सूचना हेल्पलाइन नंबर 1912 पर तत्काल दें।

बिजली लाइन के नीचे टेंट-तंबू न लगाए - बिजली वितरण कंपनी ने लोगों को चेताया है कि जिन खेतों से बिजली की लाइन निकली है उसके नीचे किसान और ग्रामीण न तो भूसा के ढेर लगाएं न ही गोबर के कंडों का बिटौरा लगाएं। क्योंकि अगर आंधी तूफान व अन्य किसी कारण से तार टूटता है या तार भूसे या कंडों के संपर्क में आ जाता है तो आग लग जाती है। इसके अलावा बिजली की लाइन के नीचे खेतों में टेंट या तंबू भी न लगाएं।

डंडे से ऊंची न करें बिजली की लाइन - बिजली कंपनी ने अपील की है कि जिन सड़क मार्गों पर बिजली के तार नीचे हैं वहां से वाहन निकालने का प्रयास न करें। इसके अलावा भूसे से भरे ट्रैक्टर-ट्रॉली और ट्रकों को भी न निकाले क्योंकि इससे आग लग सकती है। कई लोग वाहन निकालने के लिए बिजली के तारों को बांस या फिर लाठी से ऊंचा करते हैं यह भी घातक हो सकता है।

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned