एनआरसी में पंखे बंद, बच्चे परेशान

एनआरसी में पंखे बंद, बच्चे परेशान

Sanjay Singh Tomar | Updated: 12 Jun 2019, 10:30:00 AM (IST) Dabra, Gwalior, Madhya Pradesh, India

पिछले कुछ दिनों में ही एनआरसी में 21 बच्चे हुए भर्ती, केंद्र में गर्मी से निपटने के इंतजाम नहीं

 

डबरा. पोषण पुनर्वास केन्द्र में हवा की उचित व्यवस्था नहीं है। जबकि इनदिनों ४७ से ४८ डिग्री सेल्सियस तक का तापमान बना हुआ है बावूजद इसके भीषण गर्मी में चार पंखे बंद है जिससे वार्ड में भर्ती कुपोषित बच्चे गर्मी में बेहाल हो रहे है। सुधरने के लिए यह पंखे काफी दिन पहले गए है लेकिन अभी तक सुधरकर नहीं आए है। चार दिन से कूलर भी सुधरने गया है। पांच दिन पहले भर्ती संख्या २१ होने पर कई पलंग पर दो-दो बच्चों को जगह दी गई जिससे अव्यवस्था बनी। २० सीटर बैड स्वीकृत है लेकिन मात्र १६ पलंग की व्यवस्था होने से इससे अधिक संख्या बढऩे पर हालात बिगड़ते है। खास बात यह है कि यह क्षेत्र महिला बाल विकास मंत्री इमरती देवी सुमन का गृह निवास है।

एनआरसी की स्थापना कुपोषित बच्चों को सुपोषित किए जाने के लिए की गई, ताकि कुपोषित बच्चों का केन्द्र के माध्यम से उचित हवा के साथ उनका खान-पान का ध्यान रखा जाए। लेकिन डबरा एनआरसी में47 से48 डिग्री सेल्सियस तापमान में भर्ती हॉल में लगे चार पंखे बंद है। खराब होने पर स्वास्थ्य महकमा सुधारने के लिए पंखा तो उतार ले गया है लेकिन अभी तक नहीं सुधर कर आए है। कूलर भी खराब होने पर सुधरने गया है।

पत्रिका ने जब केन्द्र पहुुंचकर हालात पर नजर डाली तो भर्ती हॉल में लगे चार पंखे बंद थे और मात्र एक कूलर चलता मिला, एक जगह कूलर के लगे होने से दूर भर्ती कुपोषित बच्चों को हवा नहीं पहुंच रही थी जिस कारण कुपोषित बच्चों की माताएं हाथ के पंखे से गर्मी से राहत पाने का प्रयास करती देखी गई। भीषण गर्मी के कारण बच्चे बिलखते दिखे। जिस ओर विभाग का ध्यान नहीं है। चार दिन बाद भी कूलर सुधर कर नहीं आया है। जिससे सिविल अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही भी सामने आती है।

 

कई बार बेड बढऩे के लिए कहा गया है

एनआरसी स्टाफ ने बताया कि कई बार बच्चों की संख्या बढऩे पर हालात बिगड़ते है। क्योंकि १६बैड की व्यवस्था है अधिक संख्या आने पर व्यवस्था बिगड़ती है। इस संबंध में कई बार निरीक्षण के दौरान आने वाले अधिकारियों को अवगत कराया जाता है कि बैड संख्या बढ़ाई जाए लेकिन आज तक सुनवाई नहीं हुई है। पिछले दिनों कलेक्टर अनुराग चौधरी और सीएमएचओ द्वारा किए गए निरीक्षण के दौरान भी स्टाफ ने इस समस्या को रखा था लेकिन बैड संख्या आज तक नहीं बढ़ाई गई है।

उल्टी दस्त से भर्ती दो बच्चे पीडि़त
सोमवार को दो कुपोषित बच्चे भर्ती हुए दोनों को उल्टी दस्त हो रहे है। समय पर भर्ती कर इलाज शुरू कर दिया है । इनके नाम गुडिय़ा पुत्री प्रीतम निवासी पठापनिहार और राहुल पुत्र सोनू निवासी सिरोही बताए गए हैं। मंत्री इमरती देवी सुमन ने कहा कि जल्द ही एनआरसी का निरीक्षण कर वहां की अव्यवस्थाओं को दूर करेंगे।

 

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned