नहीं मान रहे किसान, आग लगाकर जला रहे नरवाई

कलेक्टर का आदेश चढ़ रहा आग की भेंट

By: rishi jaiswal

Published: 24 Apr 2020, 10:45 PM IST

डबरा/बिलौआ. प्रदूषण के फैलने और आगजनी की घटनाएं रोकने के लिए नरवाई में आग लगाने पर प्रतिबंध का कलेक्टर का कड़े आदेश के बाद भी किसानों पर कोई असर नहीं हो रहा है। वे दिनदहाड़े नरवाई में आग लगा रहे हैं। अंचल में लगातार दूसरे दिन नरवाई में आग लगी और काफी क्षेत्र में फैल गई। मौके पर एक फायर ब्रिगेड, पानी के टैंकर व ग्रामीणों ने नहर से पानी लाकर आग को खेतों में बने मकान औऱ झोपडिय़ों तक पहुंचने से रोका।
बिलौआ क्षेत्र के ग्राम गंगापुर के जहानपुर मौजे में गेहूं कटने के बाद बची नरवाई में शुक्रवार दोपहर 1 बजे अचानक आग भडक़ उठी। इसकी जानकारी ग्रामीणों ने बिलौआ नगर परिषद में दी। मुख्य नगर पालिका अधिकारी अवधेश त्रिपाठी ने तत्काल फायर ब्रिगेड खराब होने की स्थित में पानी का एक टैंकर मौके पर भेजा और पिछोर नगर परिषद में फायर बिग्रेड मंगाने के लिए सूचना दी। सूचना मिलने पर फायर बिग्रेड करीब 1 घंटे में मौके पर पहुंची और आग बुझाना शुरू किया। आग ने करीब 60 से 70 बीघा की नरवाई को अपने घेरे में ले लिया था। फायर ब्रिगेड के साथ करीब 30 से 35 किसानों ने आग बुझाने के लिए प्रयास किए तब जाकर आग पर काबू पाया। जब किसानों से आग लगने का कारण पूछा तो किसानों ने बताया कि पता नहीं यह आग कैसे लग गई। वही खड़े एक किसान ने कहा किसी ने नरवाई जलाने के लिए आग लगाई होगी अपने आप आग कैसे लग जाएगी।

नरवाई में आग लगाने से पोषक तत्व हो रहे खत्म

नरवाई में आग लगाने से मिट्टी को काफी नुकसान होता है। नरवाई में आग लगाने के कारण मिट्टी से न्यूट्रॉन, जीवित जीवाणु, सूक्ष्म पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं। इसका खामियाजा किसानों को फसल उत्पादन में उठाना होता है। साथ ही अच्छे उत्पादन के लिए किसान फिर रासायनिक खाद का उपयोग करते हैं। इससे भी मिट्टी को काफी क्षति होती है।

Show More
rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned