किसानों ने खेतों से लाकर गोशाला में जबरन घुसाए सैकड़ों मवेशी, बिगड़ी व्यवस्था, बछड़े की मौत

गोसेवकों व किसानों के बीच हुई नोंकझोंक , एसडीएम ने लाए गोवंश को रानीघाटी के जंगल में भिजवाने के दिए निर्देश

 

By: हुसैन अली

Published: 07 Jan 2021, 11:52 PM IST

भितरवार. खेतों में खड़ी फसल को नुकसान पहुंचा रहे बेसहारा गोवंश को खदेड़ कर गोशाला लेकर पहुंचे किसानों से गोसेवकों की तीखी नोंकझोंक हो गई। विवाद के बीच किसानों ने दबंगई दिखाते हुए लाए गए एक सैकड़ा गोवंश को जबरन गोशाला में प्रवेश करा दिया। जिससे गोशाला में अव्यवस्था पैदा हो गई। वहीं क्षमता से अधिक गोवंश होने से बिगड़ी व्यवस्था की जानकारी मिलने पर एसडीएम अश्वनी कुमार रावत ने नगर परिषद सीएमओ को गोशाला में व्यवस्था बनाने के लिए आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

जानकारी के अनुसार मंगलवार की रात 9 बजे के आसपास ग्राम बागवई एवं नगर भितरवार के कुछ किसान फसलों को नुकसान से बचाने के लिए गोवंश को खदेड़ कर करैरा मार्ग स्थित नगर परिषद द्वारा संचालित माँ पार्वती गोशाला लेकर पहुंचे। जहां गोवंश की देखरेख में लगे गोसेवकों ने लाए गए गोवंश के झुंड को अंदर जाने से रोकते हुए किसानों से कहा कि गोशाला में क्षमता अनुसार लगभग चार सैकड़ा गोवंश रह रहा है। इनके आने से गोशाला की व्यवस्था बिगड़ जाएगी। यह बात सुन किसान गोवंश को अंदर ले जाने के लिए जिद पर अड़ गए और तीखी नोंक झोंक के बीच लाए गए गोवंश के झुंड को जबरन गोशाला में प्रवेश करा दिया। इसके बाद गोशाला की व्यवस्था बिगड़ गई। बताते हैं कि इस दौरान एक नंदी के झगड़े में एक बछड़े की मौत हो गई। वहीं ऐसी स्थिति गोसेवक आयुष पालीवाल ने इसकी जानकारी एसडीएम को दी। जिस पर एसडीएम ने नगर परिषद सीएमओ सतीष कुमार दुबे को निर्देश देते हुए कहा कि किसानों द्वारा लाए गोवंश को वाहनों में भरकर रानीघाटी के जंगल में भिजवाएं।

बागवई और भितरवार के कुछ किसान गोवंश के झुंड को खदेड़ कर गोशाला लेकर आए जिन्हें गोशाला की क्षमता और व्यवस्था समझाते हुए रोका गया। लेकिन उन्होंने बिल्कुल नहीं सुनी और जबरन गोवंश को गौशाला में प्रवेश करा दिया। जिससे रात में रह रहे बछड़े पर झुंड में शामिल एक नंदी ने हमला बोल दिया जिससे उसकी मौत हो गई। वहीं व्यवस्थित रह रहे गोवंश की परेशानी देख इसकी शिकायत एसडीएम से की है।
आयुष पालीवाल , गोसेवक भितरवार

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned