ढाई घंटे ट्रैक पर जमे रहे किसान, रेल यातायात बाधित

डबरा. कृषि कानून के विरोध में चल रहे किसान आंदोलन के देशव्यापी आव्हान के तहत गुुरुवार को रेल रोको आंदोलन होना था, स्थानीय किसान संगठनों ने भी आंदोलन के समर्थन में रेलवे ट्रैक पर प्रदर्शन किया ट्रैक जाम कर दिया। प्रदर्शन को देखते हुए रेलवे ने ट्रेनों को सिगनल नहीं दिया और आसपास के स्टेशनों पर ट्रेनों को रुकवा दिया। मामला बढऩे पर पुलिस को हल्का बल प्रयोग भी करना पड़ा।

By: Vikash Tripathi

Published: 18 Feb 2021, 10:24 PM IST

सुबह 11.30 बजे आंदोलनकारी ठाकुर बाबा रोड के पास बने रेलवे गेट मालगोदाम के पास पहुंचे और रेलवे ट्रैक जाम कर दिया। करीब एक घंटे बाद जब ज्यादा हंगामा होने लगा तब पुलिस प्रशासन ने किसान नेताओं को उठाना शुरू किया। इस दौरान पुलिस से किसानों की नोकझोंक भी हुई। किसान नेता समेत करीब 44 आंदोलकारियों को ट्रैक से उठाया और जबरदस्ती पुलिस बस में बैठाया गया। खदेडऩें के दौरान कई नेता भाग खड़े हुए। पुलिस ने इस दौरान बल प्रयोग भी किया।
इस तरह पहुंचे आंदोलनकारी
कुछ आंदोलनकारी शुगर मिल गेट की तरफ से तो कुछ ठाकुर बाबा रोड की ओर से आकर रेलवे ट्रैक पर पहुंच गए। हालांकि पुलिस ने इन दोनों ओर से बेरीगेड्स लगाकर रोकने का प्रयास किया था। लेकिन वे जबरदस्ती रेलवे ट्रैक तक जा पहुंचे। काफी समय तक पुलिस ने समझाया लेकिन वे नहीं माने और आंदोलन जारी रखा। करीब तीन घंटे तक रेलवे ट्रैक जाम रहा। इस दौरान कोई ट्रेन नहीं निकली। चेतावनी के तौर पर रेलवे ने लाल कपड़ा बांधकर गेट के पास लगा रखा था। आंदोलन के चलते एसडीएम प्रदीप शर्मा, भितरवार एसडीओपी अभिनव बारंगे, तहसीलदार एसआर वर्मा समेत ग्वालियर से एडीएम टीएन सिंह सहित आसपास के थानों से पुलिस बल तैनात रहा।
जिन्हें नजरबंद किया था उन्हें फिर उठाया
किसान नेता गुलाबसिंह रावत और राज रावत समेत कई आंदोलनकारियों को पुलिस ने जबरदस्ती ट्रैक से उठाकर पुलिस बस में बिठाया। इन दोनों नेताओं को पुलिस ने पिछले दिनों ग्वालियर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान मंख्यमंत्री का घेराव किया जाने की बात कहने के चलते थानों में नजरबंद कर दिया था। गुरुवार को रेल रोको आंदोलन में भी आंदोलन करने के दौरान रेलवे ट्रैक से उठाया गया। 10 मिनट बाद अप डाउन ट्रैक से ट्रेनें पास कराई गई। आंदोलन के दौरान सोनागिर स्टेशन पर भोपाल से आने वाली छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस, दिल्ली से आने वाली विशाखापट्नम और आंतरी स्टेशन पर बरौनी मेल ट्रेन खड़ी रहीं। करीब 2 बजे रेलवे ट्रैक बाहाल हुआ।

सभी को समझाया गया वे मान गए और आंदोलन खत्म हो गया है। जिन लोगों को पकड़ा गया है उन्हें शाम तक छोड़ दिया जाएगा। रेलवे ट्रैक जाम करने वालों पर सुप्रीम कोर्ट की गइड लाइन के तहत कार्रवाई की जाएगी।
कौशलेन्द्र विक्रम सिंह - कलेक्टर

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned