धान की फसल लेकर दोहरा लाभ उठाएंगे किसान

गर्मी के दो महीने तक खेत खाली नहीं रहेंगे। जून में धान की कटाई कर फिर से बारिश के सीजन में धान की रोपणी कर देंगे जिससे उन्हें दोहरा लाभ मिलेगा।

By: rishi jaiswal

Published: 18 Apr 2020, 10:12 PM IST

चीनोर. क्षेत्र में अभी गेहूं की कटाई 20 प्रतिशत ही हो सकी है। जहां कटाई हो चुकी है वहां किसानों ने समय से पहले ही धान की रोपणी शुरू कर दी है। इन किसानों का मानना है कि ऐसा करने से उन्हें दोहरा लाभ मिल सकता है।

गर्मी के दो महीने तक खेत खाली नहीं रहेंगे। जून में धान की कटाई कर फिर से बारिश के सीजन में धान की रोपणी कर देंगे जिससे उन्हें दोहरा लाभ मिलेगा।

ग्राम दौलतपुर और रिझोरा में सिख समाज के कुछ किसान इन दिनों गेहूं कटाई के बाद खाली हुए अपने खेतों में धान की रोपणी मजदूरों से करा रहे हैं। हालांकि धान की रोपणी का सीजन बारिश में जून-जुलाई रहता है लेकिन इससे पहले ही ये किसान धान की एक फसल ले लेंगे।

किसान देवा सरदार, संदीप सिंह, अमरीक सिंह, बलवीर सिंह, मुखविंदर सिंह ने बताया कि गेहूं की कटाई के बाद खेत दो महीने तक खाली पड़े रहते हैं। उनके पास सिंचाई के साधन हैं इसलिए वे खेतों को खाली न छोड़कर फायदा उठाना चाहते हैं। इसके लिए उन्होंने धान की रोपणी शुरू करा दी है ताकि जून तक 60 दिनों में धान की फसल पकने के बाद कट जाएगी और जुलाई में वे फिर से बारिश के सीजन में धान की रोपणी कर सकेंगे।

इन किसानों ने बताया कि धान की पैदावार बारिश के सीजन की धान से ज्यादा होती है। अभी धान की फसल लेने से एक बीघा में 13 से 15 क्विंटल की पैदावार होगी जबकि बारिश के सीजन में धान की पैदावार 8 से 10 क्विंटल प्रति बीघा ही होती है। इन किसानों ने बताया कि कोरोना वायरस के चलते उन्होंने मजदूर महिलाओं से दूरी बनाकर रोपणी करने के लिए कहा है। इसके साथ ही सभी से मुंह पर कपड़ा या मास्क लगाकर ही काम कराया जा रहा है।

rishi jaiswal
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned