scriptHouses including many huts collapsed due to the rain of calamity | आफत की बारिश से कई झोपडिय़ां समेत मकान ढहे | Patrika News

आफत की बारिश से कई झोपडिय़ां समेत मकान ढहे

गृहस्थी का सामान हो गया नष्ट, पटवारी नहीं उठा रहे फोन

 

 

डबरा

Published: August 04, 2021 07:40:39 pm

छीमक(डबरा)। लगातार हो रही बारिश से अब लोगों की परेशानी बढ़ गई है। कई झोपडिय़ों समेत मकान ढह गए है। छीमक में बारिश की वजह से तीन मकान ढहे है। आलम पुत्र बंजुर खान जो कि छीमक देवरा रोड के नजदीक मकान है। धान रोपाई करने गए थे। दो लड़के बाहर खेल रहे थे। इसी बीच उनका मकान गिर गया। जिससे गृहस्थी का सामान नष्ट हो गया हेै। करीब 12 हजार से अधिक का नुकसान होना बताया है।
आफत की बारिश से कई झोपडिय़ां समेत मकान ढहे
आफत की बारिश से कई झोपडिय़ां समेत मकान ढहे
भगवान सिंह पुत्र सरमन परिहार का मकान में तेज बारिश की वजह से ढह गया है। दीवार गिर गई है। करीब 15 हजार का नुक्सान बताया गया है। कृष्ण लाल दुबे की दीवार गिर गई है। हालांकि कोई जन हानि नहीं हुई है। दीवार के गिरने से आम रास्त बंद हो गया है।
इस संंबंध में आलम खान ओर भगबान सिह परिहार ने बताया की सुबह से ही पटवारी को फोन लगाया जा रहा है। लेकिन प्रबीण शर्मा पटवारी फोन नही उठा रहे हैं

दो मकान भितरवार में भी गिर गए
भितरवार. बारिश की वजह से भितरवार के वार्ड क्रं.5 में नदी किनारे स्थित बनी दो झुग्गी झोपड़ी एवम कुछ कच्चेे मकान नदी की तेज लहरों से गिर गए है। हालांकि कोई जनहानि नहीं हुई। ग्राम पंचायत गड़ाजर में भगवती पत्नी मनीराम पाठक का कच्चा मकान टूट गया। जिससे आर्थिक नुकसान हुआ है। इसी के साथ गीता पत्नी रमेश प्रजापति वार्ड न. 4. गोलेश्वर मोहल्ला की बरसात होने से दो मडिय़ा गिर गई है। गीता ने बताया कि करीब 20 हजार रुपए का नुकसान हुआ है।
तीन दर्जन से अधिक गांव वासियों ने छोड़ा गांव

चीनोर. प्रशासन द्वारा करीब 24 गांव को हरसी बांध में जलस्तर बढऩे को लेकर ग्रामीणों को अलर्ट रहने के लिए बोला गया था लेकिन रात में ग्रामीण बांध फूटने की अफवाह पर ध्यान देकर दूसरे गांव के लिए 3 दर्जन से अधिक गांव वासी पलायन करने लगे। सभी लोग करहिया गांव में आकर ठहरे कुछ लोग अपने परिवार के साथ-साथ पशुओं को भी लेकर आए हैं। ग्राम श्यामपुर, रही, मस्तूरा, खेड़ा, मारकपुर, रिछाई ,बेला, ईटमां गांव के लोग शामिल है। जो पलायन करके आए है। ग्रामीण छोटू, दिलीप, नरेंद्र, विजेंद्र, संजय ने बताया हमारे खेत खलियान और घरों में पानी भर जाने के कारण और बाढ़ ना आ जाए इस डर के कारण गांव छोड़कर करहिया गांव में आ गए हैं। लेकिन प्रशासन ने कोई व्यवस्था नहीं की हेै।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Uttarakhand Election 2022: रुद्रप्रयाग में अमित शाह ने पूछा, कैसी सरकार चाहिए, विकास या भ्रष्टाचार वाली?शिवराज सरकार के मंत्री ने राष्ट्रपिता को बताया फर्जी पिता, तीन पूर्व पीएम पर भी साधा निशानापूर्व CM अशोक चव्हाण ने किया खुलासा: BJP सांसद मुरली मनोहर जोशी ने रिपोर्ट में खुद कहा 'PM मोदी सेना के साथ खिलवाड़ कर रहे'NeoCov: नियोकोव वायरस के लक्षण, ठीक होने की दर, जानिए सबकुछPandit Jasraj Cultural Foundation: संगीत के क्षेत्र में भी होना चाहिए तकनीक और आईटी का रिवॉल्यूशन: PM ModiCorona: गुजरात में कोरोना को मात दे चुके हैं 10 लाख से अधिक लोगकाशी विश्वनाथ मॉडल पर बनेगा महांकाल कॉरीडोर, सिंहस्थ-28 पर अभी से कामCovid-19 Update: महाराष्ट्र में बीते 24 घंटे में आए कोरोना के 24,948 नए मामले, 103 मरीजों की मौत हुई।
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.