हक की लड़ाई के लिए सभी एकजुट हों और पलवल बार्डर पहुंचें

डबरा. हक की लड़ाई के लिए हम सभी एकजुट हों और दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में आंदोलन को और मजबूती प्रदान करने के लिए पलवल बॉर्डर पहुंचे। कोई चिंता की बात न करें, आपके खाने पीने की व्यवस्था है। मंगलवार को कृषि कानून के विरोध में दिल्ली में चल रहे आंदोलन के सर्मथन में कृषि उपज मंडी प्रागंड में डबरा, भितरवार एवं आसपास के किसानों की महापंचायत आयोजित की गई थी। जिसमें राकेश टिकैत यूनियन के प्रदेश उपाध्यक्ष राजवीर जादौन ने किसानों से यह बात कही।

By: Vikash Tripathi

Published: 02 Feb 2021, 11:40 PM IST


उन्होंने कहा कि हमें काले कानून को वापस करवाना है, जब तक कानून वापस नहीं लेती सरकार तब तक हम चेन से नहीं बैठेंगे। हमें गुलामी की जिंदगी नहीं जीना है। हम अपने आने वाले बच्चों के हक के लिए लड़ रहे है हमें किसी भी परिस्थितियों में झुकना नहीं है। मंच से जादौन ने क्षेत्र के किसानों से अपने हक के लिए एकजुट होकर आंदोलन को मजबूती प्रदान करने के लिए पलवल बॉर्डर पहुंचने का आव्हान किया। 26 जनवरी की घटना के संबंध में उन्होंने कहा कि यह सरकार की साजिश है हमें फंसाने के लिए, हमारें किसान उनके द्वारा लगाए गए बेरीकेड्स से रास्ता भटक गए थे। इसी दौरान संत बाबा मोहनङ्क्षसह कारसेवा हुजूर साहिब वाले ने भी किसानों से एकजुट होकर अपने हक के लिए लडऩे की अपील की और कहा कि लंगर में कमी नहीं आएगी हमारी ओर से सेवा जारी रहेगी। बलजिंदर सिंह किसान आंदोलन कमेटी गाजीपुर वार्डर ने भी महापंचायत को संबोधित किया। महापंचायत में क्षेत्र के अनेक किसानों के साथ कांग्रेस कार्यकर्ता शामिल थे।

6 फरवरी को किया जाएगा जाम- किसान कोर कमेटी के सदस्य राज रावत ने बताया कि महापंचायत में यह निर्णय हुआ है कि 5 फरवरी को 200 ट्रैक्टर, औैर 100 चार पहिया वाहन से करीब दो हजार किसान दिल्ली जाएंगे। 6 फरवरी को नेशनल हाइवे ग्वालियर झांसी एनएच 75 पर सिमरिया टेकरी के पास जाम किया जाएगा।

Vikash Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned