सिविल ड्रेस में रेत खदान पहुंची पुलिस ने खनन माफिया को दबोचा

अवैध खनन पर शिकंजा

By: rishi jaiswal

Published: 02 Jun 2020, 10:53 PM IST

डबरा/भितरवार. सिंध नदी की बेलगढ़ा रेत खदान पर मंगलवार सिटी थाना पुलिस ने रणनीति के तहत छापामार कार्रवाई की। पुलिस के जवान बाइक पर सवार होकर बिना वर्दी के सिविल ड्रेस में रेत खदान पर पहुंचे। ये सभी उस रास्ते से नहीं पहुंचे जो रेत माफिया ने बनाए हैं। क्योंकि इससे रेत माफिया को सूचना मिल जाती और वे पनडुब्बियों को या तो भगा ले जाते थे या डुबो देते थे। जवान कच्चे रास्ते से सीधे खदान पर जा धमके और माफिया को संभलने का मौका ही नहीं दिया।
सिंध नदी की रेत खदानों पर बडे पैमाने पर अवैध रेत का उत्खनन पनडुब्बियां डालकर माफिया कर रहे हैं। इस संबंध में 31 मई को पत्रिका ने इस मुद्दे को प्रभावी ढंग से उठाते हुए खबर का प्रकाशन किया। इसके बाद सिटी थाना प्रभारी रेत खनन को लेकर गंभीर हुए। उन्होंने अपने मुखबिरों को अवैध उत्खनन पर निगाह रखने लगा दिया। मंगलवार को थाना प्रभारी को गुप्त सूत्रों से पता चला कि बेलगढ़ा सिंध नदी की खदान पर पनडुब्बियां चलाकर काफी मात्रा में रेत निकाला जा रहा है। पुख्ता सूचना के आधार पर थाना प्रभारी ने रेत माफिया को चकमा देने के लिए रणनीति तैयार की। इसके तहत करीब चार बाइक पर आठ पुलिस के जवान सिविल ड्रेस में रेत माफिया द्वारा बनाए रास्ते से न पहुंचते हुए दूसरे कच्चे रास्ते से घाट पर पहुंचे। एकदम घाट पर पहुंची पुलिस को देखकर रेत माफिया पनडुब्बियों को भगाने लगे तब पुलिस बल ने ललकारते हुए फायरिंग की तैयारी की। घबराकर माफिया पनडुब्बी छोडक़र भाग खड़े हुए। इस दौरान मुख्य रास्ते से थाना प्रभारी जवानों के साथ अपने चार पहिया वाहन से मौके पर पहुंच गए। पुलिस के जवानों ने नदी से ट्रैक्टर से खिंचवाकर पांच पनडुब्बियों को बाहर निकलवाया। घाट पर अवैध रेत से भरे दो ट्रैक्टर-ट्रॉली भी मिले जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया। नगर पालिका से जेसीबी मंगाकर सभी पनडुब्बियों को मौके पर ही नष्ट कराया तथा उनके अवशेषों को सिटी थाना परिसर में लाकर रखवाया।

थाना प्रभारी समेत जवान कूदे
पनडुब्बी निकालने पुलिस के दबाव के चलते पनडुब्बियों को छोडक़र माफिया भाग खड़े हुए। इन पनडुब्बियों को निकालने के लिए थाना प्रभारी यशवंत गोयल समेत पुलिस के जवानों को नदी में कूदना पड़ा। रस्से से एक-एक कर पनडुब्बियों को बांधकर घाट पर खड़े जवानों ने खींचकर निकाला। थाना प्रभारी व कुछ जवानों ने पानी में खड़े होकर रस्से से पनडुब्बी को खींचा।

लॉकडाउन में भी नहीं रुका खनन
कोरोना वायरस संक्रमण के चलते दो महीने से ज्यादा समय तक लॉकडाउन रहा। सभी तरह के काम-धंधे बंद थे। किसी को भी घर से निकलने नहीं दिया जा रहा था। प्रशासन और पुलिस हर तरफ मुस्तैद थी। इसके बावजूद खनन का खेल नहीं रुका। सिंध के रेत घाटों पर धड़ल्ले से अवैध खनन जारी रहा। प्रशासन और पुलिस की करोना को लेकर व्यस्तता का फायदा रेत माफिया ने उठाया।

लोहारी घाट पर पुलिस ने तोड़े रेत माफिया के रैम्प
उधऱ भितरवार क्षेत्र में भी सिंध नदी के लोहारी घाट पर मंगलवार को भितरवार थाना प्रभारी डॉ. संतोष यादव के नेतृत्व में अवैध उत्खनन के खिलाफ कार्रवाई की गई। हालांकि पुलिस को पनुडब्बी तो नहीं मिली लेकिन उत्खनन में उपयोग होने वाले सामान को पुलिस ने जब्त कर नष्ट कराया। रेत माफिया द्वारा बनाए गए कुछ रैम्पों को भी नष्ट कराया। यहां करीब एक सैकड़ा रैम्प माफिया ने बना रखे हैं। थाना प्रभारी ने ग्रामीणों से कहा कि अगर आपको रेत का अवैध उत्खनन होते दिखे तो तुरंत मुझे सूचना दें। किसी भी कीमत पर रेत उत्खनन नहीं होने दिया जाएगा।

वर्सन

टीआई को गुप्त सूत्रों से पता चला कि बेलगढ़ा रेत खदान पर पनडुब्बियों से अवैध उत्खनन किया जा रहा है। टीआई ने तत्काल सिटी फोर्स के साथ स्वयं की मौजूदगी में पांच पनडुब्बी व दो ट्रैक्टर—ट्रॉलियों को मौके से बरामद किया। रेत माफिया नदी में कूदकर भाग निकले।
उमेश तोमर, एसडीओपी, डबरा

Show More
rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned