मंडी परिसर में भरा बारिश का पानी, भीगे सैकड़ों गेहूं के बोरे

खरीदी केन्द्रों पर उचित व्यवस्था नहीं

 

By: rishi jaiswal

Updated: 05 May 2020, 10:21 PM IST

डबरा/ बिलौआ. दो दिन पूर्व हुई बारिश का पानी कृषि उपज उप मंडी आंतरी के परिसर में भर गया। इससे खुले में रखे गेहूं से सैकड़ों बोरे पानी से भीग गए। बोरों के भिगने से इनकी क्वॉलिटी पर असर पड़ेगा। खरीद केन्द्र प्रबंधक भी मानते है कि त्रिपाल डालने के बाद भी परिसर में बारिश का पानी भर जाने से कुछ बोरे नीचे से गीले हो गए हैं।

कृषि उपज मंडी समिति भितरवार की उप मंडी आंतरी में आंतरी और कछुआ के अंतर्गत आने वाले गांवों के रजिस्टर किसान अपनी गेहूं की फसल तुलाने के लिए मंडी में ला रहे हैं। किसानों के मोबाइल नंबर पर गेहूं तुलाने के लिए एसएमएस भेजा जा रहा है। ज्यादा किसानों के पास एसएमएस पहुंचने से मंडी में गेहूं की आवक बढ़ गई है। मंडी परिसर में सैकड़ों गेहूं की बोरियां इक_ी हो गई जिनका उठाव कार्य न होने से कई बोरियां मंडी परिसर में लगे टीनशेड के नीचे रख दी गई। इस तरह सैकड़ों क्विंटल गेहूं के बोरे खुले में रखे हैं। यदि समय रहते गेहूं का परिवहन यहां से कर लिया जाता तो ये नौबत नहीं आती। खरीद केन्द्र संचालकों का कहना है की मजदूरों के काम का पैसा अभी तक शासन से नहीं मिला है और हम मजदूरों को अपनी जेब से लाखों रुपए का भुगतान कर चुके हैं। शासन इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है।

वर्सन

बारिश होने पर हमने त्रिपाल डालकर गेहूं को भीगने से बचाया लेकिन परिसर में पानी भरने से कुछ गेहूं के बोरे नीचे की साइड से भीग गए हैं।
मुकेश शर्मा, संचालक, खरीद केन्द्र, कछुआ

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned