संक्रमित क्षेत्र की सीमाओं को किया सील, किया सेनेटाइज

जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद प्रशासन में मचा हडक़ंप

 

By: rishi jaiswal

Published: 12 May 2020, 10:09 PM IST

डबरा. नगर के समाजसेवी एवं व्यवसायी गंगाराम रोहिरा (80) की मौत की गुत्थी सुलझ गई है। दो दिन पहले 10 मई को उनकी मौत जेएच हॉस्पीटल ग्वालियर में हो गई थी। मंगलवार को कोरोना की जांच रिपोर्ट पॉजीटिव आने के बाद प्रशासन के बीच हडक़म्प मच गया है। मंगलवार को सुबह तहसीलदार नवनीत शर्मा, नगर पालिका सीएमओ प्रदीप भदौरिया, पीडब्ल्यूडी के एसडीओ राजेन्द्र शर्मा और स्वास्थ्य अधिकारी अनुपम पाठक ने ठाकुर बाबा रोड पहुंचकर क्षेत्र को सेनेटाइज करवाया। संक्रमित क्षेत्र के रेडियस में आने वाले क्षेत्र की सीमाओं को सील कर दिया है।
शहर में इस बात को लेकर दहशत फैल गई है। एनाउंसमेंट करते हुए प्रशासन ने चेतावनी देते हुए कहा कि यह क्षेत्र कैंटोमेंट घोषित किया गया है। इस दौरान न तो कोई बाहरी व्यक्ति प्रवेश कर सकेगा न ही इस क्षेत्र से बाहर कोई जा पाएगा। नियमों का पालन करने की अपील की गई। पुरुष परिजन ग्वालियर में होने की वजह से अभी संपर्क हिस्ट्री की जानकारी प्रशासन को नहीं लग पाई है। संपर्क हिस्ट्री की जानकारी जुटाई जा रही है। हालांकि पिछले सात दिन से वे ग्वालियर में थे और इस दौरान एक से दो दिन तक ग्लोबल हॉस्पीटल ग्वालियर में भर्ती होना बताया गया है। फिलहाल सात दिन के बीच उनकी संपर्क हिस्ट्री यही निकलकर सामने आई है।

ट्रैवलिंग हिस्ट्री नहीं

8 माह से वे कहीं बाहर नहीं गए और न ही उनके यहां कोई बाहर से आया है। ऐसे में बड़ा सवाल यह है कि आखिर कोरोना संक्रमण उनके शरीर में कैसे फैला। क्योंकि क्षेत्र में अभी कम्यूनिटी इंफेक्शन नहीं फैला है। ऐसे में प्रशासन के लिए यह चुनौती बना हुआ है। लॉकडाउन के दौरान पिछले कई दिनों से वे बर्फ फैक्ट्री में भी नहंीं बैठे है।
सैकड़ों लोगों का संपर्क बना प्रशासन के लिए चुनौती- बताया गया है कि वे कई दिनों से बीमार थे और इस दौरान लोगों को मिलना जुलना हुआ है। तहसीलदार नवनीत शर्मा ने बताया कि पिछले सात दिन के भीतर उनके यहां 100 से अधिक लोग आए है जिनकी सूची तैयार की जा रही है। उनका परिवार बड़ा है ऐसे में प्रशासन के समाने यह बड़ी चुनौती है। बताया गया है कि वे ताश भी खेलते थे इस दौरान उनके संपर्क में कितने लोग आए जानकारी जुटाई जा रही है।

सीमाएं की सील, कनेक्टीविटी काटी

कमल टाकीज रोड, बीईओ कार्यालय तक, डल्लू पान वाले से लेकर एंडी ग्रांट होटल तक की सीमा तक क्षेत्र को पूरी तरह से सील कर दिया गया है। 14 दिन तक कोई गतिविधियां संचालित नहीं होंगी। इस क्षेत्र में कोई बाहर नहीं निकलेगा। कोई ठेले नहीं लगेंगे। इस क्षेत्र के अलावा संतकंवर राम रोड और सराफा बाजार क्षेत्र को सेनेटाइज किया गया।

तीन दिन पहले पत्नी को किया क्वॉरंटीन

गंगाराम की पत्नी के नाम से 10 मई को स्थानीय प्रशासन ने उनके घर के बाहर होम अंडर क्वॉरंटीन का नोटिस चस्पा किया था। इसमें ६ सदस्यों को क्वॉरंटीन किया गया था। तहसीलदार ने बताया कि जो उनके नजदीक थे इस कारण उन सभी को 10 मई से लेकर 24 मई तक होम अंडर क्वॉरंटीन में रहने के लिए नोटिस चस्पा किया गया था।

प्रशासन अलर्ट

कोरोना से बुजुर्ग की मौत के बाद प्रशासन हाई अलर्ट हो गया है दोपहर १२ बजते ही थाना प्रभारी यशवंत गोयल ने शहर की सभी दुकानें बंद कराई और चेतावनी दी कि सभी दुकानें बंद करले अन्यथा कार्रवाई की जाएगी। तहसील रोड पर पुुलिस ने जैसे ही दुकानें बंद कराना शुरू किया वहां हडक़ंप मच गया।
वर्सन

क्षेत्र को कैंटोमेंट घोषित किया गया है। आसपास की सीमाएं सील कर दी है। अभी जानकारी के मुताबिक उनकी टै्रवलिंग हिस्ट्री नहीं है। हालांकि उनके अस्पताल में रहने के दौरान उनके परिजनों से अनेक लोगों का संपर्क हुआ है जिनकी सूची तैयार की जा रही है।
नवनीत शर्मा, तहसीलदार, डबरा

Show More
rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned