तबियत बिगड़ी तो जागे अफसर, बोले बजट की नहीं है कमी

आधा दर्जन नवजात शिशुओं के एक साथ बीमार हो जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग की नींद खुली। इसके बाद अस्पताल में व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए जिला स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं मीडिया अधिकारी व भितरवार नोडल अधिकारी डॉ. आईपी निबारिया ने बुधवार को अस्पताल का निरीक्षण किया।

By: rishi jaiswal

Published: 28 May 2020, 12:12 AM IST

भितरवार. सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के प्रसूता वार्ड में दो दिन पहले आधा दर्जन से अधिक बच्चों की लू लगने से हालत बिगडऩे की घटना के बाद से स्वास्थ्य विभाग सक्रिय हुआ है। गर्मी के कारण इस प्रकार की घटना दोबारा घटित न हो इसके लिए एनबीएसयू वार्ड और एनआरसी वार्ड में एसी लगवाए गए हैं। इसके साथ ही प्रसूता वार्ड में एसी लगवाने के साथ अस्पताल के प्रत्येक भर्ती वार्ड में दो-दो कूलर लगवाए जा रहे हैं।

आधा दर्जन नवजात शिशुओं के एक साथ बीमार हो जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग की नींद खुली। इसके बाद अस्पताल में व्यवस्थाओं का जायजा लेने के लिए जिला स्वास्थ्य कार्यक्रम एवं मीडिया अधिकारी व भितरवार नोडल अधिकारी डॉ. आईपी निबारिया ने बुधवार को अस्पताल का निरीक्षण किया।

निरीक्षण के दौरान उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से कहा कि विभाग के पास बजट की कमी नहीं है। आप तो अस्पताल में जो भी कमियां है उन्हें दुरूस्त कराने के लिए प्रस्ताव बनाकर भिजवाएं। शीघ्र ही कमियों को दूर करा दिया जाएगा। अस्पताल में आने वाले मरीजों को बेहतर इलाज और सुविधाएं देना हमारी जिम्मेदारी है। निरीक्षण के दौरान खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. यशवंत शर्मा, ब्लॉक प्रोग्राम मैनेजर सतीश कन्नौजी, बीसीएम जयंत सिंह यादव, फॉर्मासिस्ट पंकज चौहान तथा लेखापाल सुदामा दांगी मौजूद रहे।

तीन साल बाद एनबीएसयू वार्ड में चालू हुआ एसी - अस्पताल में नवजात बच्चों के इलाज के लिए बनाए गए एनबीएसयू में लगे एसी को खराब हुए तीन साल बीत गए। स्थानीय प्रबंधन की लापरवाही के चलते एसी को ठीक नहीं कराया गया। इसी प्रकार एनआरसी वार्ड में भी केवल कूलरों से ही काम चलाया जा रहा था और वह भी बिना पानी के। बीते दिनों की घटना के बाद से एनआरसी सेंटर में दो एसी लगवा दिए गए हैं।

प्रसूता वार्ड में भी लगेगा एसी व चालू होगी टीवी - निरीक्षण के दौरान नोडल अधिकारी ने स्थानीय प्रबंधन को निर्देशित किया वह प्रसूता वार्ड में भी एसी लगवाए। इसके साथ ही वार्ड में बंद पड़ी टीवी को भी शीघ्र चालू कराएं। इसके साथ ही प्रत्येक भर्ती वार्ड में दो-दो कूलर रखवाएं ताकि लोगों को गर्मी से परेशान न होना पड़े।

दुरूस्त रखें सफाई व्यवस्था - नोडल अधिकारी ने कहा कि अस्पताल में सफाई व्यवस्था को दुरूस्त रखें और नियमित रूप से रोजाना सफाई कराए। सफाई कर्मचारी काम करने में आनाकानी करे तो उसका वेतन काटने की कार्रवाई की जाए। इसके साथ परिसर में पानी भरने की चलने वाली मोटर से आंगन में भरने वाले पानी की निगरानी के लिए वार्डबाॅय को जिम्मेदारी सौंपी जाए और उसने प्रत्येक कूलर में पानी भरवाया जाए। कोई भी कूलर बिना पानी के नहीं चलना चाहिए।

पार्क का शीघ्र कराएं जीर्णोद्धार - नोडल अधिकारी ने कहा कि परिसर में बने पार्क को विकसित कराकरा हराभरा करें। इसके साथ ही वार्ड में जो भी खिड़कियां टूटी पड़ी है उनमें कांच लगवाकर दुरूस्त कराएं। परिसर में घूमने वाले आवारा मवेशियों की रोकथाम के लिए एसडीएम द्वारा प्रस्ताव बनवाकर वरिष्ठ अधिकारियों के पास भिजवाएं ताकि बाउंड्रीवॉल का निर्माण हो सके।

'अस्पताल में जो भी अव्यवस्थाएं हैं उन्हें दुरूस्त करने के लिए हर संभव प्रयास किया जाए। आने वाले समय में अस्पताल नए स्वरूप में दिखाई देगा।' - डॉ. आईपी निबारिया, नोडल अधिकारी, भितरवार

rishi jaiswal
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned