सीएमओ से कलेक्टर ऐसा क्या बोले, खड़े लोग सकपका गए

दौरे पर आए कलेक्टर अनुराग चौधरी को ओवरब्रिज के नीचे दुकानों का मलबा देखा, भडक़ गए

 

By: संजय तोमर

Published: 29 Mar 2019, 08:30 AM IST

डबरा/भितरवार. रेलवे ओवरब्रिज के नीचे से तीन दिन में मलबा नहीं हटाया तो सीएमओ को निर्वाचन कार्यालय में अटैच कर दिया जाएगा। यहां मलबा हटाकर पार्किंग व्यवस्था करें। आचार संहिता हटने के बाद नगर में एक महिला प्रशाधन केन्द्र जल्द बनाया जाए।

गुरुवार को कलेक्टर अनुराग चौधरी ने डबरा के तहसील सभागार में बैठक के दौरान ये निर्देश दिए। डबरा सिविल अस्पताल पहुंचकर कलेक्टर ने एनबीएसयू कक्ष का भर्ती वार्ड देखा जहां एक महिला भर्ती मिली। कलेक्टर ने उस महिला से उसका हालचाल जाना। प्रसूता वार्ड में पहुंचकर भर्ती महिलाओं की संख्या और डिलेवरी संख्या की जानकारी ली। वहां बैठे प्रसूताओं के परिजन से पूछा कि भर्ती के दौरान किसी ने पैसे तो नहीं मांगे। कलेक्टर के आने की सूचना मिलने पर पहले से ही सिविल अस्पताल प्रबंधन ने सफाई व्यवस्था बेहतर कर ली।

माताओं को पता नहीं 120 रुपए मिलते हैं
पोषण पुनर्वास केन्द्र पहुंचकर सबसे पहले कलेक्टर ने जूते उतारे और भर्ती बच्चों की संख्या ली। साथ ही हर माताओं से पूछताछ की जिसमें यह बात सामने आई कि उन लोगों को यह मालूम हीं नहीं होता कि प्रतिदिन उन्हें मजदूरी के रूप में १२० रुपए मिलते है। दरअसल परिजन यह सोचते है कि १४ दिन केन्द्र में रहने के दौरान उनकी मजूदरी का क्या होगा जिसे देखते हुए १२० रुपए प्रतिदिन राशि दी जाती है। कलेक्टर ने भर्ती संख्या बढ़ाने और १२० रुपए प्रतिदिन का प्रचार प्रसार किए जाने के निर्देश दिए।

बेसमेंट में पार्किंग
कलेक्टर ने कहा कि नगर की बिगड़ी ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने के लिए सभी आगे आएं। एसडीएम जयति सिंह ने कहा कि बेसमेंट में जहां दुकानें संचालित है वहां पार्किंग की व्यवस्था की जाएगी। इ-रिक्शा के स्टॉपेज के लिए स्वयंवर लॉज के पास और बस स्टैंड के पास पॉवर हाउस के समीप खाली जगह को चिन्हित किया है।

न चादरें बिछी देख कलेक्टर भडक़े
भितरवार सामुदायिक केन्द्र के एनआरसी में ५ बच्चे भर्ती मिले और एक बच्चा बेहद कमजोर मिला। जबकि १० सीटर की व्यवस्था है। इस पर नाराजगी जताई और कलेक्टर ने कहा कि कुपोषित बच्चों की भर्र्ती संख्या बढ़ाई जाए। प्रसूता वार्ड में रंगीन चादरें बिछी देख कलेक्टर भडक़े और कहा कि तय शुदा चादर का ही उपयोग किया जाए। साथ ही प्रसूताओं से यह जानने का प्रयास किया कि उनके साथ सही व्यवहार होता है या नहीं। भर्ती के दौरान उनसे रुपए तो नहीं मांगे गए। चीनोर स्वास्थ्य केन्द्र में निरीक्षण के दौरान उन्होंने कहा कि एमएलसी यहीं की जाए भितरवार न भेजें और मुख्यालय पर रुकें।

मतदान केन्द्रों का निरीक्षण
कलेक्टर अनुराग चौधरी और एसपी नवनीत भसीन ने क्रटीकल मतदान केन्द्र चीनोर, छिरेंटा, अमरोल, घाटमपुर, झाड़ोली और करियावटी केन्द्रों का निरीक्षण किया यहां व्यवस्थाएं खराब मिली। झाड़ोली में आंगनबाड़ी केन्द्र का भी निरीक्षण किया और कार्यकर्ता से भर्ती बच्चों की संख्या की जानकारी ली। बैठक में मतदान केन्द्र को लेकर भी चर्चा की गई।

संजय तोमर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned