#FOOD POISONING: शादी में विषाक्त भोजन करने से 27 बीमार  

जांच के लिए गांव पहुंची स्वास्थ्य टीम, घर-घर जाकर जाना, कहीं और तो नहीं है मरीज

दमोह/पटेरा।  थाना क्षेत्र के महेवा गांव में गुरुवार की रात एक शादी समारोह में भोजन करने के बाद हैजा से पीडि़त हुए 27 लोगों को पटेरा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र से छुट्टी  दे दी गई है। इधर शनिवार को स्वास्थ्य टीम ने गांव पहुंचकर निरीक्षण किया और घरों में पहुंचकर उल्टी-दस्त के मरीजों की जानकारी ली। साथ ही दवाईयों का वितरण भी किया। 

बीएमओ अशोक बड़ोनिया ने बताया कि गांव के सुरेंद्र, दीनदयाल, रमेश, लखन और महेंद्र ने निवेदन किया था कि गुरुवार की रात जो शादी में खाना खाने के बाद 27 लोग बीमार हुए थे, वह शुक्रवार को स्वस्थ्य होने के बाद घर चले गए है। उन्होंने मामले की शिकायत पुलिस में भी नहीं की है। जिससे खाना के सेंपल आदि नहीं लिए जा सके है। 

ग्रामीणों के जाने हालात-
बीएमओ ने बताया कि गांव में एहतियात के तौर पर आंगनबाड़ी और स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं को शनिवार को भेजा गया। जहां शादी वाले घर के अलावा अन्य घरों में भी कार्यकर्ताओं ने घूमकर ग्रामीणों का हाल जाना। साथ ही पता करने का प्रयास किया कि भोजन विशाक्त कैसे हो गया था। इस दौरान टीम ने कुछ लोगों को दवाईयों का वितरण भी किया। 

कारण अब तक स्पष्ट नहीं-
शादी समारोह का भोजन विषाक्त कैसे हो गया, फिलहाल यह अभी तक स्पष्ट नहीं हो सका है। हालांकि, इसकी विशेष जांच भी नहीं कराई गई है। पानी को दूषित होना पहली नजर में माना जा रहा है। जबकि कुछ लोग खाने में कोई वस्तु का अनजान बस मिल जाना मान रहे है। 

यह पहुंचे थे अस्पताल-
जानकारी के अनुसार उल्टी दस्त से पीडि़त बमनपुरा गांव के संजू 18, आशा 18, कनई 22, राजेश 17, गोविंद 20, हल्लू 12, उमेश 10, सुनील 10, टुप्पी 35, नारायन16,  दुर्गा 7, लक्ष्मी 11, संगीता 44, मदन 9, पिंकी 10, जगदीश 16, सुनीता 12, उमा 30, गौरीबाई 35, सियाराम 15, जयंत 13, कामता 32, लखन 45, बड़ीबहू 65, कमला 40, राधाबाई 35 और आमेवती 35 को उपचार के लिए पटेरा अस्पताल में भर्ती कराया गया था। 

Show More
Lali Kosta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned