30 किमी तक बाइक पर शव रखकर ले गया चचेरा भाई, जानिए दर्दनाक पहलू...

lamikant tiwari

Publish: Apr, 17 2018 12:47:18 PM (IST)

Damoh, Madhya Pradesh, India
30 किमी तक बाइक पर शव रखकर ले गया चचेरा भाई, जानिए दर्दनाक पहलू...

देर रात सागर मार्ग पर कुमेरिया के समीप ट्रक से कुचलकर मौत होने के बाद रात २ बजे अपने चचेरे भाई का शव ले गया घर

दमोह. अपने चचेरे भाई की वाहन दुर्घटना में मौत होने के बाद उसके शव को चचेरा भाई ३० किलो मीटर बाइक चलाकर ले गया। घटना को लेकर पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया है। पूरा मामला दमोह से सागर जाने वाले मार्ग पर कुमेरिया गांव का है। जहां पर मुख्य मार्ग पर एक ट्रक से कुचलने पर एक भाई के शव को दूसरा भाई बाइक पर रखकर ३० किलामीटर दूर अपने गांव हिनौती ले गया। दरअसल अपने चचेर भाई को कई वाहन रोकर उसमें ले जाने के लिए लोगों से गुहार लगाई पर जब आधीरात में किसी ने वाहन ही नहीं रोका तो मजबूर भाई अपने भाई का शव घर तक बाइक पर ही ले जाने के लिए विवश हुआ। सोचिए कि अकेले व्यक्ति ने दूसरे व्यक्ति को किस तरह से बाइक पर शव को रखा होगा फिर ३० किलोमीटर का सफर कैसे तय किया होगा। खास बात यह भी है कि आखिर रात १२ बजे के बाद शहर की गश्त कहां थी। कहां रही पुलिस की चैकिंग।

क्या है पूरा मामला-
एक बाइक पर सवार दो चचेरे भाई जा रहे थे। जिसमें रविवार रात करीब १२ बजे के बाद एक भाई की वाहन दुर्घटना में मौत हो गई। तो दूसरे भाई ने सड़क से निकल रहे वाहनों को रोककर मदद मांगने का प्रयास किया। लेकिन जब कोई वाहन नहीं रुका तो बाइक पर ही भाई के शव को ३० किलोमीटर का सफर तय करके अपने गांव हिनौती ले गया।
क्या कहते हैं मृतक के परिजन -
मामले में मूरत सिंह निवासी हिनौती थाना जबलपुर नाका चौकी ने बताया है कि उसका भतीजा जितेंद्र पिता राजा सिंह लोधी (२१) चचेरे भाई महेंद्र के साथ परिवार में ही शादी समारोह को लेकर एक निमंत्रण देने के बाद गढ़ाकोटा मार्ग से दमोह होते हुए अपने घर हिनौती जा रहे थे। इसी बीच रात करीब १२.३० बजे के लगभग अज्ञात वाहन या फिर किसी ट्रक से कुचलकर जितेंद्र की घटना स्थल पर ही मौत हो गई थी।
इस मामले में देवेंद्र सिंह ने बताया कि परिवार में शादी का माहौल था। सभी लोग शादी की तैयारियों में जुटे थे। इसी बीच जब रविवार/सोमवार की रात करीब २.३० से ३ बजे के बीच उसके भतीजे महेंद्र लोधी के आंगन में किसी को सोते देखा तो महेंद्र से पूछा कि यह कौन है। तब उसने बताया कि किसी वाहन या ट्रक ने जितेंद्र को कुचल दिया था। जिसका शव वह बाइक से लाया था। जिसने आंगन में रख दिया था। महेंद्र ने बताया कि वह उसके चचेरे भाई जितेंद्र के साथ जब कुमेरिया मार्ग की ओर से अपने घर आ रहा था। तभी अचानक कुमेरिया के समीप एक ट्रक मुख्य मार्ग पर खड़ा था। जहां पर एक बड़ा पत्थर मुख्य मार्ग पर चके के किनारे पड़ा था। जिससे बाइक टकरा गई थी। इसी बीच तेज गति से आ रहे ट्रक ने उसे कुचल दिया था। ट्रक कुचलता हुआ आगे निकल गया था। बाद में महेंद्र ने जितेंद्र के शव को बाइक पर रखा और वह उसे लेकर सीधा अपने घर जबलपुर नाका चौकी अंतर्गत आने वाले हिनौती गांव पहुंचा। बाद में सोमवार सुबह शव पंचनामा कार्रवाई के बाद शव परिजनों के सुपुर्द किया गया।
पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया -
मामले में सागर नाका चौकी प्रभारी विक्रम सिंह दांगी ने बताया कि ट्रक से कुचलकर युवक की मौत होना पाया गया है। जिसमें अज्ञात वाहन के खिलाफ धारा ३०४ ए का मामला दर्ज किया गया है। जब उसे कोई सहायता नहीं मिल रही थी तो मृतक का चचेरा भाई घबराहट में अपने भाई का शव बाइक पर घर ले गया था।

डाउनलोड करें पत्रिका मोबाइल Android App: https://goo.gl/jVBuzO | iOS App : https://goo.gl/Fh6jyB

1
Ad Block is Banned