जिला अस्पताल में सोमवार को पहुंचे 769 मरीज

300 बिस्तर के अस्पताल में 349 भर्ती

By: Rajesh Kumar Pandey

Published: 04 Oct 2021, 09:23 PM IST

दमोह. सोमवार को जिला अस्पताल की प्रत्येक ओपीडी व चिकित्सक के चैंबरों के सामने लंबी-लंबी कतारें लगी रहीं। सोमवार को अब तक सर्वाधिक 769 मरीज पहुंचे हैं, जिनमें से 89 मरीजों को शाम 6 बजे तक भर्ती कराया जा चुका था।वायरल सीजन में अब बीमारियां पैर पसारने लगी हैं। सोमवार को सुबह 10 बजे से लेकर दोपहर 1 बजे के बीच जिला अस्पताल में मरीजों की लंबी कतारें देखी गईं। प्रत्येक वार्ड में जहां देखो मरीज व उनके परिजन ही नजर आ रहे थे। जिला अस्पताल की सामान्य ओपीडी जहां 200 से 300 के बीच प्रतिदिन चल रही थी, उसने सोमवार को 769 पर पहुंचा दिया। जिनमें से 89 मरीजों की स्थिति ठीक नहीं होने पर जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया। 300 बिस्तर वाले अस्पताल में शाम 6 बजे तक 349 मरीज भर्ती हो चुके थे।
15 डेंगू के नए मरीज आए
दमोह जिले में डेंगू का प्रकोप भी दिखाई दे रहा है, जहां अगस्त माह में 3 मरीज सामने आए थे, वहीं सितंबर में 91 मरीज डेंगू के निकले थे। चालू अक्टूबर माह में डेंगू मरीजों की संख्या 30 पर पहुंच गई है, 15 पहले से इलाजरत थे और सोमवार को 15 नए मरीज सामने आए हैं। जिले में अब तक डेंगू के 124 मरीज सामने आ चुके हैं।
बुखार के साथ गायब हो रही भूख
वर्तमान में सरकारी अस्पताल के अलावा निजी अस्पतालों में पहुंच रहे 75 फीसदी मरीज बुखार के साथ भूख न लगने की शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं। ऐसे मरीजों की खून की जांच कराए जाने पर प्लेटस कम निकल रही है व काउंटिंग कम आ रही है। कई मरीजों में लगातार प्लेटस गिरने की स्थिति आने पर डेंगू पॉजिटिव सामने आ रहे हैं। शहर में डेंगू का प्रभाव लगातार बढ़ रहा है।
मरीज बढऩे से फैल रहीं अव्यवस्थाएं
सर्वाधिक मरीज पहुंचने से अव्यवस्थाएं भी फैल रहीं है। जिला अस्पताल में अव्यवस्थाएं फैलने का का प्रमुख कारण है कि एक मरीज के साथ 5 से 10 लोग अस्पताल में जा रहा है। जिससे जिला अस्पताल में सुबह से शाम तक 2 हजार से अधिक लोगों की मौजूदगी के कारण अव्यवस्थाएं भी फैल रही हैं। मरीजों के साथ आने वाले परिजन बरामदों से लेकर वार्डों में भीड़ बनाए रहते हैं। जबकि नियमानुसार भर्ती मरीज के साथ एक अटेंडर रहना चाहिए लेकिन जिला अस्पताल में कोरोना काल की दूसरी लहर के समय मरीज के परिजनों को अस्पताल के अंदर प्रवेश देने के कारण अनेक अव्यवस्थाएं सामने आई थीं।
बिस्तर कम पडऩे से नीचे हो रहा इलाज
जिला अस्पताल में वायरल सीजन में एकाएक मरीजों की संख्या बढऩे के कारण बिस्तर कम पड़ रहे हैं। मरीजों के लिए समुचित इलाज के लिए नीचे ही बिस्तर लगाकर इलाज मुहैया कराया जा रहा है। हालांकि इस स्थिति को लेकर मरीज के परिजनों व अस्पताल स्टाफ में तू-तू, मैं-मैं की स्थिति देखी जा रही है, लेकिन जिला अस्पताल प्रत्येक भर्ती मरीज को इलाज देने का प्रयास किया जा रहा है।
निजी अस्पताल भी चल रहे फुल
वायरल सीजन में दमोह में डेंगू के मरीज सर्वाधिक निकल रहे हैं। जिला अस्पताल के बजाए दमोह के लोगा निजी लैब से जांच कराकर प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती हो रहे हैं। सबसे ज्यादा डेंगू से पीडि़त बच्चे सामने आ रहे हैं, जिन्हें लोग जबलपुर या शहर के निजी अस्पतालों में भर्ती कर रहे हैं, जहां भी बेड फुल चल रहे हैं।

 
Rajesh Kumar Pandey Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned