13 दिन बाद भी बारेलाल की विदेश मंत्रालय से पुष्टि नहीं, चिंता बढ़ी

हर रोज नोहटा थाना पहुंच रहे शीशपुर के लोग

By: Sanket Shrivastava

Published: 27 Nov 2019, 09:23 AM IST

दमोह. परिजनों के दावे के बावजूद विदेश मंत्रालय १३ दिन बाद भी बारेलाल के पाकिस्तान में होने की पुष्टि नहीं कर पाया है। इससे लोगों की चिंता बढ़ रही है। उधर, बारेलाल की खोज खबर के लिए शीशपुर के लोग हर रोज नोहटा थाना पहुंच रहे हैं।
गौरतलब है कि १४ नवंबर को मध्यप्रदेश के एक युवक सहित दो भारतीय पाकिस्तान में गिरफ्तार हुए थे। इनमें दमोह का बेटा बारेलाल के होने की जानकारी के लिए नोहटा से पुलिस टीम शीशपुर स्थित उसके घर पहुंची थी।
बारेलाल की मां और भाई ने फोटो से पहचान की थी। तब से परिवार ही नहीं बल्कि गांव से लेकर जिले तक बारेलाल को पाकिस्तान से वापस लाने की मुहिम छिड़ी हुई है। लेकिन १३ दिन बाद भी विदेश मंत्रालय उसके बारेलाल होने की पुष्टि नहीं करा पाया है।
जबकि, आधार कार्ड से लेकर सभी तरह के दस्तावेज मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय से लेकर केंद्रीय गृह मंत्रालय तक भेजे जा चुके हैं। दमोह के अधिकारी भी विदेश मंत्रालय के जवाब का इंतजार कर रहे हैं।
पिता-भाई से नहीं करता था बात
बेटे के इंतजार में परेशान बारेलाल की मां लक्ष्मीदेवी किसी के भी मिलने पर उसे किस्सा सुनाने लगती है। वह कहती है कि बारेलाल को जब वापस लाना हो तो हमें ही बताना, क्योंकि वह पिता और भाई से बात नहीं करता था। वह फिर से कहीं चला नहीं जाए, इसलिए वह अपने साथ लाएगी। लक्ष्मीदेवी ने बताया कि इलाज के लिए बारेलाल बड़ी मुश्किल से जबलपुर जाता था, दवा खाने से भी बचता था।
ऐसे में जब उसके पिता और भाई ने जबरन दवा खिलाना शुरू किया तो वह उनसे चिढऩे लगा। घर से भागने से पहले से वह दोनों से बात नहीं करता था।
विदेश मंत्रालय ने वापस लाने का दिलाया था भरोसा
बारेलाल के पाकिस्तान में होने की पुष्टि विदेश मंत्रालय चाहे भले नहीं कर पाया हो पर उसने दोनों भारतीयों को बिना किसी नुकसान के वापस लाने का भरोसा दिलाया है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार का एक बयान सामने आया है, जिसमें वह कहते दिख रहे हैं कि दो भारतीयों के गलती से बार्डर जाने की सूचना पाकिस्तान को दी गई थी। इसके बाद भी उनकी गिरफ्तारी कर ली गई है। बयान में कहा गया है कि दोनों भारतीयों को पाकिस्तान के दुष्प्रचार का शिकार नहीं होने देंगे। ज्ञात हो कि इन्हीं दो भारतीयों में एक युवक दमोह के शीशपुर का बारेलाल बताया जा रहा है। जिसकी पहचान के दावे पर उसकी मां और भाई अड़े हुए हैं।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned