एसपी ने दिए आइपीएल सट्टा पकडऩे के निर्देश, तो प्रभारी जुट गए कमाई में

पुलिस द्वारा अनाधिकृत लाभ लिए जाने की बात सामने आई

By: pushpendra tiwari

Published: 24 Oct 2020, 10:55 AM IST

दमोह. जिले में संचालित हो रहे आइपीएल सट्टा को पकडऩे के लिए एसपी हेमंत चौहान द्वारा सभी थाना प्रभारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं। बताया गया है कि एसपी चौहान ने मंगलवार को इसी संबंध में प्रमुख थाना प्रभारियों की बैठक की थी, जिसमें सटोरियों को पकडऩे की बात सख्त लहजे में कही साथ ही यह भी हिदायत दी कि किसी भी थाना क्षेत्र में बगैर प्रभारी को इतिल्ला दिए ही कार्रवाई करा दी जाएगी। उधर एसपी के निर्देश के बाद महकमें के कुछ लोग सक्रिय हो गए। बुधवार को इस विषय को लेकर की गई पड़ताल में सामने आया कि कोतवाली थाना क्षेत्र में जिले के एक थाना प्रभारी द्वारा सटोरियों से फोन पर मिलने के लिए संपर्क किया गया है। वहीं इसमें साइबर सेल के कर्मचारियों का भी शामिल होने की बात सामने आई है। इस प्रक्रिया की खासबात यह है कि पुलिस कुछ सटोरियों को सह देकर उनके बताए अनुसार उन सटोरियों की धरपकड़ करेगी, जिनसे पुलिस का संपर्क नहीं हो सकेगा। यहां पुलिस द्वारा अनाधिकृत लाभ लिए जाने की बात सामने आई है। बताया गया है कि ऑनलाइन होने वाले इस आइपीएल सट्टा में लाखोंं का खेल प्रतिदिन हो रहा है। जिसमें न सिर्फ कोतवाली क्षेत्र बल्कि जिले के अधिकांश प्रमुख थाना क्षेत्रों में सटोरिया सक्रिय हैं। इनमें प्रमुख रूप से कोतवाली, नोहटा, जबेरा, हिंडोरिया, देहात थाना, हटा, बटियागढ़, पथरिया क्षेत्र में सटोरियों की सक्रियता अधिक होना आंकी गई है।
पुलिस कर्मियों के बदले थाने
सिटी कोतवाली में पदस्थ तीन आरक्षकों के थाना क्षेत्र मंगलवार को अचानक बदल दिए गए हैं। बताया गया है कि जिन कर्मियों को स्थानांतरित किया गया है, इन्हें अस्थाई तौर पर कोतवाली से हटाया गया है। एक और खासबात है यह है कि हटाए गए तीनों कर्मियों को जिले की सीमाओं के पुलिस थानों में भेजा गया है। आशंका जताई जा रही है कि कर्मियों को कोतवाली से हटाने की कार्रवाई सटोरियों को पकडऩे की प्रक्रिया का हिस्सा है।

pushpendra tiwari Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned