दमोह. मध्य प्रदेश के वित्त मंत्री जयंत मलैया के विधानसभा क्षेत्र दमोह में कांग्रेस और भाजपा के बीच टकराहट की स्थिति बन गई। सैकड़ों कार्यकर्ता आमने सामने बढ़चढ़कर नारेबाजी करने लगे। इस दौरा पुलिस फोर्स को हस्तक्षेप करना पड़ा। तब जाकर मामला शांत हुआ। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है। दरअसल यहां पर कांग्रेस के लोगों ने बंद का आह्वान किया है। लेकिन वित्त मंत्री जयंत मलैया के साथ सैकड़ों भाजपा कार्यकर्ता सड़कों पर उतर कर दुकानें खुली रखने की अपील व्यापारियों से कर रहे हैं। हालांकि व्यापारियों ने अधिकतर जो सुबह 9:00 बजे के पहले दुकानें खुलती थी वह नियमानुसार नियमित रूप से खुलने वाली दुकान हैं। कुछ दुकानदारों ने दुकानें खोली। इस दौरान भारी पुलिस फोर्स शहर के चौराहों पर मौजूद है शहर के हृदयस्थल घंटाघर पर भाजपा एवं कांग्रेस आमने-सामने आ गई जिससे टकराहट की स्थिति बन गई दोनों पार्टियों के लोग जमकर नारेबाजी करने लगे। इस बीच सीएसपी आलोक शर्मा तथा कोतवाली थाना प्रभारी अरविंद सिंह दांगी सहित भारी पुलिस फोर्स को बीच में हस्तक्षेप करना पड़ा जिसके कारण टकराहट चल गई इसके बाद दोनों पार्टियों के लोग सड़कों की अलग-अलग मार्गों पर एक दुकान बंद करने तो दूसरा दुकान खुली रखने की अपील करता हुआ सड़कों पर निकल गया व्यापारी संगठनों से जुड़े लोगों ने 1 दिन पूर्व ही अपनी दुकानें खुली रखने का निर्णय लिया था लेकिन कांग्रेस के भारत बंद आंदोलन के चलते कांग्रेस के जिलाध्यक्ष सहित अन्य कांग्रेसी सड़कों पर उतर गए हैं जो व्यापारियों से दुकानें बंद रखने का आव्हान कर रहे हैं वहीं भाजपा के जिलाध्यक्ष देव नारायण श्रीवास्तव सड़कों पर उतर कर दुकानें खुली रखी जाने की अपील कर रहे हैं इस बीच पुलिस को दोनों राजनीतिक दलों के साथ भारी तादाद में चलना पड़ रहा है शहर में ऐसे आपके साथ जिले भर के पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी देखी जा रही है बाहर हाल 11.30 बजे तक किसी भी तरह से विवाद की स्थिति नहीं देखी गई बीच में टकराहट जरूर हुई लेकिन पुलिस के हस्तक्षेप के बाद जिलेभर में शांति बनी हुई है जिले के अन्य क्षेत्रों में भी यही आलम है आम दिनों की तरह बाजार खुला हुआ है बंद का किसी भी तरह का असर देखने नहीं मिल रहा है

Ad Block is Banned