सेंट्रल स्कूल का मामला, कोतवाली में कराई थी प्राचार्य की शिकायत

सेंट्रल स्कूल में जैकेट उड़ाकर एक ने दूसरे छात्र से की पिटाई, कोतवाली पहुंचा मामला

 

By: lamikant tiwari

Published: 18 Dec 2018, 12:49 PM IST

दमोह. स्थानीय सेंट्रल स्कूल में दो छात्रों के बीच हुए विवाद को लेकर जांच कमेटी ने अपनी जांच प्राचार्य को सौंप दी है। इधर विद्यार्थी परिसर ने भी एक ज्ञापन कलेक्टर व एएसपी को सौंपते हुए छात्र से साथ होने वाली मारपीट के मामले में निष्पक्ष कार्रवाई करते हुए दोषियों को दंड देने की मांग की है।
क्या है पूरा मामला -
स्थानीय सेंट्रल स्कूल के छात्र सार्थक जान कश्यप ने कोतवाली में एक आवेदन दिया था। जिसमें उसने स्कूल प्राचार्य व उनके बेटे पर मारपीट करने का आरोप लगाया था। जिसकी जांच थाना प्रभारी द्वारा की जा रही थी। इस बीच सोमवार को विद्यार्थी परिषद के सह संयोजक शिवेंद्र तिवारी व अन्य क्षात्रों के साथ एएसपी व कलेक्टर के यहां पहुंचे। जिन्होंने एक ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में उल्लेख किया कि स्कूल के प्राचार्य व बेटे ने उसके साथ मारपीट की है। जिनके खिलाफ कार्रवाई की जाए।
प्राचार्य ने रखा अपना पक्ष -
सेंट्रल स्कूल के प्राचार्य अरविंद अवस्थी का कहना है कि स्कूल में उनका बेटा भी पढ़ता है। लेकिन वह एक स्टूडेंट की तरह ही है उसमें पिता-पुत्र का कोई संबंध नहीं रहता। जहां तक बात सार्थक जान की है उसमें मारपीट का जो भी मामला सामने आया था। उसमें सार्थक अवस्थी को जैकिट उढ़ाकर मारपीट करने की शिकायत आई थी। जिसकी जांच के लिए तुरंत ही चार शिक्षकों की टीम गठित कर जांच के आदेश दिए थे। जिन्होंने सभी अन्य क्षात्रों व दोनों पक्षों से जानकारी लेकर जांच रिपोर्ट पेश की है। पूर्व में भी आरोपी छात्र सार्थक जान कश्यप ने २८ अक्टूबर २०१७ को एक बच्चे के साथ मारपीट की थी। जिसमें माफीनामा के बाद उस पर कार्रवाई नहीं की थी। लेकिन उसके बाद यह उसने दूसरी घटना की है। जिसमें सार्थक अवस्थी पर जैकेट डालकर उससे मारपीट की गई।
जांच रिपोर्ट में माना दोषी-
चार वरिष्ठ शिक्षकों की टीम ने छात्र द्वारा दी गई शिकायत पर जांच की है। जिसमें उन्होंने रिपोर्ट पेश की। रिपोर्ट में जांच टीम प्र्रभारी आनंद वर्मा ने बताया है कि सभी संबंधित प्रत्यक्षदर्शी छात्रों के बयानों के आधार पर यह पाया गया है कि छात्र सार्थक जान कश्यप दोषी है।
दोनों पक्ष में हुआ था विवाद -
मामले को गंभीरता से लेते हुए एसपी विवेक अग्रवाल के निर्देशन में तत्काल जांच कराई गई थी। जिसमें जांच में अलग-अलग बिंदुओं को गंभीरता से लेकर जांच की गई। मामले में पहले सार्थक जोन ने फिर दूसरे सार्थक अवस्थी द्वारा एक दूसरे से मारपीट करना पाया गया है।
आरके गौतम - थाना प्रभारी कोतवाली
सीएसपी को सौंपी है जांच -
विद्यार्थी परिषद ने ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन आने के बाद मामले की जांच सीएसपी से कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा कार्रवाई की जाएगी।
विक्रम सिंह कुशवाहा - एएसपी

Show More
lamikant tiwari
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned