कमलनाथ के समर्थन में उमड़े कांग्रेसी , भ्रामक निकली भाजपा मीडिया प्रभारी की ये सूचना

कमलनाथ के समर्थन में उमड़े कांग्रेसी , भ्रामक निकली भाजपा मीडिया प्रभारी की ये सूचना

Laxmi Kant Tiwari | Publish: Sep, 03 2018 12:05:11 PM (IST) Damoh, Madhya Pradesh, India

घायल युवक ने बताया है कि उसका एक्सीडेंट कोतवाली चौक पर हुआ था

दमोह. भाजपा के मीडिया प्रभारी मनीष तिवारी ने पत्रकारों को वॉट्सएप पर एक वीडीओ व फोटो डालकर उसमें बताया कि कांग्रेस नेता के रोड शो के दौरान कोतवाली चौक पर एक युवक का एक्सीडेंट कमलनाथ की गाड़ी से हुआ। दी गई सूचना में उल्लेख था कि कमलनाथ जिस वाहन में सवार थे उस वाहन से एक युवक का एक्सीडेंट हो गया था। इस मामले में पत्रिका रिपोर्टर ने जिला अस्पताल जाकर एक्सीडेंट में घायल युवक पप्पू पिता करन सिंह परिहार (28) से बात की। जिसमें युवक ने बताया कि वह राजेंद्र बिदौल्या के साथ कांग्रेस की रैली में आया था। जिसका किसी वाहन से एक्सीडेंट हुआ। लेकिन वह यह नहीं देख पाया कि वाहन किसका था। यही बयान उसने कोतवाली थाना प्रभारी को भी देकर किसी भी तरह की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए साफ इंकार किया है।
सीसीटीवी में नहीं दिखा कुछ भी-
घायल युवक ने बताया है कि उसका एक्सीडेंट कोतवाली चौक पर हुआ था। जबकि वहां पर सीसीटीवी कैमरे लगे थे। इसके अलावा सैकड़ों लोग अपने मोबाइलों में तस्वीरें कैद कर रहे थे। कहीं भी यह बात सामने नहीं आई। खास बात यह थी कि भाजपा कार्यालय के सामने कोतवाली चौक (कीर्ति स्तंभ चौक) पर जहां पर एक्सीडेंट होना बताया गया। वहां पर मीडिया के कई लोग खड़े हुए थे। जिसमें कोई कैमरे से तो कोई मोबाइलों से कमलनाथ के रोड शो को अपने कैमरे में कैद कर रहा था। इतना ही नहीं भाजपाई स्वयं अपने मोबाइलों से रोड शो को मोबाइलों में कैद कर रहे थे। यदि उस समय ऐसा कुछ हुआ तो फिर उस दौरान इतने सारे कैमरे इस दृश्य को कैमरे में कैद करने से कैसे चूक गए। हालांकि सच यह है कि उस दौरान कमलनाथ जिस कार में सवार थे, उसके आगे पीछे करीब आधा-आधा दर्जन गाडियां चल रहीं थीं। जिसमें फॉलोगार्ड से लेकर एंबुलेंस व अन्य वाहन भी शामिल थे। फिर एक्सीडेंट के बाद आखिर उस दौरान युवक ने किसी को क्यों नहीं बताया और फिर वह सीधा अस्पताल क्यों नहीं पहुंचा। खास बात यह भी है कि घायल युवक पप्पू जिस गुल्लू मिश्रा के सामने यह घटना होने का बता रहा था। तो इस मामले में गुल्लू मिश्रा ने किसी भी तरह की घटना सामने होने से साफ इंकार क्यों किया। इसके अलावा पप्पू ने पुलिस में जो बयान दिए उसमें कमलनाथ का जिक्र क्यों नहीं किया और फिर उसने रिपोर्ट दर्ज क्यों नहीं कराई। यह सवाल भाजपा के मीडिया प्रभारी मनीष तिवारी को घेरने के लिए पर्याप्त हैं। जिसमें उन्होंने जल्दबाजी में मीडिया से जुड़े लोगों को उन्होंने स्वयं रिकार्डिंग करके वीडीओ व फोटो भेजे। खास बात यह भी है कि आखिरकार मनीष तिवारी ने यह बात पत्रकारों को बताने की जगह सीधा मोबाइल से रिकार्डिंग करके मीडिया के लिए क्यों भेजी उन्हें बयान लेने के लिए क्यों नहीं बुलाया। इसके अलावा उस व्यक्ति ने भी पहचानने से साफ मना कर दिया जिसकी रैली में साथ आने की बात कही थी।
बौखला गई है भाजपा- अजय टंडन
मामले में जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अजय टंडन का कहना है कि जब कमलनाथ का आगमन हुआ था, तब उनके साथ फॉलोगार्ड भी चल रही थी। डायल -100 के साथ एंबुलेंस भी थी। यदि कमलनाथ की कार से हादसा होता तो उस समय यह बात सामने क्यों नहीं आई और फिर भाजपा के मीडिया प्रभारी जिला अस्पताल जाकर युवक का इंटरव्यू लेकर पत्रकारों को क्यों सेंड करते रहे। जबकि यदि ऐसा कुछ होता तो मीडिया के लोग स्वयं इस बात को सामने लाते। इससे साफ समझमें आने लगा है कि कमलनाथ के साथ कांग्रेस के साथ जिस तादाद में जनता ने समर्थन दिया है, उसे देखकर भाजपाई बौखला गए हैं।
इसके अलावा नरसिंगढ़ निवासी पथरिया से कांग्रेस के लिए प्रबल दावेदार माने जा रहे राजेंद्र बिदौल्या का कहना है कि जिसका एक्सीडेंट हुआ है वह उस युवक को जानते तक नहीं हैं। वह झूठ बोल रहा है कि उनके साथ रैली में शामिल होने आया था।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned