हाथ ठेले पर रखे सरियों ने लगाया जाम, बड़ी मुश्किल से निकली एंबुलेंस

हाथ ठेले पर रखे सरियों ने लगाया जाम, बड़ी मुश्किल से निकली एंबुलेंस

lamikant tiwari | Publish: Apr, 17 2018 01:46:03 PM (IST) Damoh, Madhya Pradesh, India

एक घंटे के जाम ने किया सभी को हलाकान

दमोह. सोमवार दोपहर शहर के हृदय स्थल पर एक घंटे तक जाम लगने से यातायात व्यवस्था पूरी तरह चौपट रही। शहर में जाम लगना आम बात है लेकिन सोमवार दोपहर जामने आम लोगों की हालत खस्ता कर दी दरअसल शहर के बीचों बीच स्थित हृदय स्थल घंटाघर से निकले पांचों मार्गों पर दोपहर 12.30 से 1.30 तक लगातार 1 घंटे जमकर जाम लगने से सभी मार्गों पर वाहन फंसे रहे। यहां पर हाथ ठेला चालकों के कारण जाम की हालत बनने की बात सामने आई है। दरअसल हाथ खेलों पर लोहे के गाटर सरिया सहित अन्य सामग्री को परिवहन किया जा रहा था। जिसको लेकर यहां जाम के हालात बन गए।

पांचों मार्ग हो गए थे जाम-
घंटाघर से बकौली चौराहा, पलंदी चौराहा, बिंदन चौराहा,राय तिराहा व अस्पताल चौक जाने वाले मार्ग पर भी पांचों मार्ग एक घंटे तक पूरी तरह से जाम रहे। दोपहर में जब पलंदी चौक मार्ग से आने वाले एंबुलेंस जिला अस्पताल जा रही थी। तभी अचानक एंबुलेंस के लिए घंटाघर से आगे जाने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ा। हालांत यह रहे कि २० मिनट बाद जब यातायात का जवान आया तो उसने एंबुलेंस निकलवाने में सहयोग किया। तब कहीं जाकर मरीज को जिला अस्पताल ले जाया गया।
इन पर नहीं होती कार्रवाई -
शहर के घंटाघर से जाने वाले पांचों मार्ग पर एक भी रास्ता ऐसा नहीं है, जहां पर दुकानदारों ने अपनी दुकानों को बाहर तक न लगाया हो। कई दुकानदार अपनी दुकानों की सामग्री को करीब ५ से १० फीट तक बाहर तक जमाकर रखते हैं। जिससे ग्राहक प्रभावित होकर उनकी दुकान से खरीददारी करें। इसके अलावा कई दुकानदार फुटपाथ पर भी दुकानें लगवाकर उनसे रकम वसूलते हैं। जिससे यातायात व्यवस्था बुरी तरह से प्रभावित होती है।
जहां मन चाहा खड़ा करते हैं ऑटो रिक्शा -
शहर में ऑटो स्टैंड की कमी के कारण चलाए जा रहे हजारों ऑटो रिक्शा, जहां मन चाहता है खड़ा कर लेते हैं। जिसमें घंटाघर से अस्पताल चौक आने वाले मार्ग पर व पलंदी चौक जाने वाले मार्ग पर सबसे अधिक ऑटो खड़े किए जाते हैं। ऑटो खड़ा करके यात्रियों का इंतजार करते हैं। जिससे भी कई बार जाम की स्थिति बनती है।
नहीं करते कार्रवाई -
घंटाघर पर तैनात किए जाने वाले यातायात के जवान यहां खड़े होने वाले ऑटो रिक्शा चालकों पर कोई भी कार्रवाई नहीं करते। जिससे इस क्षेत्र के दुकानदार भी परेशान होते हैं। और उनकी मनमानी लगातार बढ़ती ही जा रही है। कई बार ऑटो आगे बढ़ाने का कहने पर दुकानदार व ऑटो चालकों के बीच भी विवाद हो चुका है। जिसका मामला पुलिस थाना तक पहुंचा। लेकिन फिर भी ऑटो चालकों पर कोई कार्रवाई नहीं किया जाना आदत में शामिल होने की बात दुकानदार कहते हैं।
इसलिए होती है परेशानी-
यातायात प्रभारी रीता सिंह का कहना है कि उनके पास यातायात स्टॉफ की कमी है। नगर पालिका सड़कों से हाथठेला नहीं हटवाती, शहर में मुख्य रूप से घंटाघर पर नो ऑटो जोन करने भी प्रशासन को लिखितरूप में पत्र दे चुके हैं। लेकिन इस ओर किसी का ध्यानाकर्षण नहीं किया गया है। अगर इन सभी बातों पर ध्यान दिया जाएगा तो निश्चित ही जाम की स्थिति कभी नहीं रहेगी।

Ad Block is Banned