पाइप लाइन में लीकेज से पीने के पानी के साथ बीमारियां पहुंच रहीं घर-घर

पाइप लाइन में लीकेज से पीने के पानी के साथ बीमारियां पहुंच रहीं घर

By: Sanket Shrivastava

Published: 13 Jul 2020, 10:58 PM IST

दमोह. शहर में लोगों के घरों तक पानी पहुंचने से पहले दूषित हो रहा है। बारिश के मौसम में पानी को लेकर सबसे ज्यादा शिकायतें सामने आ रहीं हैं। शहर में हो रही पेयजल आपूर्ति में बड़ी लापरवाही बरती जा रही है। जिससे लोग दूषित का उपयोग करने को मजबूर हैं। सप्लाई होने के बाद लोगों के घर पहुंचते-पहुंचते पानी दूषित हो जाता है। ऐसे में दूषित पानी से डायरिया होने का खतरा रहता है। नपा द्वारा कराई जा रही जल सप्लाई में पानी की शुद्धता को लेकर लापरवाही उजागर हो रही है। शहर में जगह-जगह पाइपलाइन में लीकेज हो गए हैं। इससे लोगों के घरों तक दूषित पानी पहुंच रहा है। लीकेज की वजह से हजारों लीटर पानी नालियों व सड़कों पर भी बह रहा है। पाइपलाइन बिछाते समय जिम्मेदारों द्वारा लापरवाही पूर्वक नालियों में डाली गयी पाइपलाइन में लीकेज हो गए। जिससे नालियों का गंदा पानी पाइपलाइन में भर जाता है और जब पानी की आपूर्ति की जाती है तो लोगों तक गंदा एवं दूषित पेयजल ही पहुंचता है। यह समस्या समय के साथ वृहद रूप लेती जा रही है। लेकिन नपा के जिम्मेदारों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। पाइपलाइन के लीकेज वाली जगहों से नालियों का भरा गंदा पानी नल खुलने के बाद काफी देर तक लोगों के घर तक पहुंचता है। इसके बाद मटमैला पानी आता है। जिसे लोग उपयोग ही नहीं कर पा रहे हैं। दूषित पेयजल के कारण बीमारियां फैलने की आशंका बनी हुई है।
दूषित पेयजल से होती हैं तमाम बीमारियां
दूषित पेयजल के कारण कई तरह की बीमारियां होतीं हैं। सबसे ज्यादा बीमारी पेट से संबंधित होतीं हैं। दूषित पानी पीने से टाइफाइड, डायरिया समेत अन्य पेट संबंधी रोग हो जाते हैं।
पाइपलाइन में लीकेज होने से जल आपूर्ति के दौरान सूक्ष्म बैक्टीरिया आ रहे हैं। जो नजर नहीं आते हैं। जिनसे बचाव बहुत मुश्किल हो रहा है। इसके बाद भी जिम्मेदार शुद्ध पेयजल उपलब्ध नहीं करवा पा रहे हैं।

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned