टै्रफिक सिग्नल की दो साल पहले बनी थी डीपीआर, अब तक नहीं लगे पोल

शहर के अस्त-व्यस्त यातायात पर नहीं लग रही लगाम

By: Sanket Shrivastava

Published: 27 Nov 2019, 09:15 AM IST

दमोह. शहर के चौराहों पर यातायात नियमों को तोड़कर फर्रांटा भर रहे वाहनों को रोकने और शहर के भीतर सड़क हादसों में कमी लाने, सुगम यातायात मुहैया कराने के लिए ट्रैफिक सिग्नल लगाए जाने की योजना करीब दो साल पहले तैयार की गई थी।
लेकिन इस योजना का क्रियांवयन अब तक नहीं हो सका है। जबकि बेलगाम ट्रैफिक पर तब तक नियंत्रण कर पाना मुश्किल है जब तक बढ़ते यातायात दबाव को रोकने के लिए चौराहों पर ट्रैफिक सिग्नल की व्यवस्था नहीं कर दी जाती। यह कहना नपा अधिकारी व यातायात पुलिस का है।
लेकिन इस व्यवस्था पर कोई अमल नहीं हुआ है। नगरपालिका सीएमओ कपिल खरे द्वारा बताया गया है कि शहर के मुख्य चौराहों पर सिग्नल स्थापित किए जाने के लिए डीपीआर तैयार की गई है। उन्होंने बताया कि करीब ७५ लाख की लागत से सिग्नल व्यवस्था होना है जिसका प्रोजेक्ट तैयार कराया जा चुका है।
वहीं शहर के यातायात थाना प्रभारी अभिनय साहू ने बताया है कि शहर के कुछ चौराहा ऐसे हैं जहां पर सिग्नल लगने के बाद यातायात काफी सुगम हो जाएगा। अभी जो चालक नियमों को तोड़कर निकल जाते हैं साथ ही चौराहों पर जाम की स्थिति बन जाती है यह स्थिति सिग्नल लगने के बाद नहीं बनेगी। प्रभारी के अनुसार इस व्यवस्था को पूरा नपा द्वारा किया जाना है।
अवलोकन होने के बाद फाइल बंद
शहर में सिग्नल व्यवस्था करने को लेकर नपा द्वारा तैयार की गई डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट पुलिस विभाग के समक्ष करीब एक साल पहले प्रस्तुत की गई थी। पुलिस के अधिकारियों द्वारा इस रिपोर्ट का अवलोकन कर व अनुमोदित कर रिपोर्ट वापस नपा के लिए भेज दी गई थी। उधर अनुमोदित रिपोर्ट फाइल में बंद हो गई जिस पर कोई कार्रवाई आगे नहीं बढ़ी है। करीब डेढ़ साल पहले नपा परिषद द्वारा यातायात को लेकर हुई समीक्षा बैठक में रिपोर्ट अनुमोदित होने के बाद कार्य शुरु करने की बात कही गई थी। लेकिन अनुमोदन के एक साल से अधिक समय बीतने के बाद आगे कार्रवाई नहीं बढ़ाई गई है।
यातायात पुलिस के पास सीमित स्टाफ
जानकारी के अनुसार करीब ३० पुलिस कर्मी शहर के विभिन्न स्थानों पर ड्यूटी के लिए तैनात होते हैं। इन्हीं में से कुछ कर्मी उस वक्त कम हो जाते हैं जब विशेष कार्यक्रम आयोजित होता है। कर्मचारियों की कमी की वजह से सभी चौराहों पर कर्मी का ड्यूटी पर तैनात होना संभव नहीं हो पाता है। जिसका सीधा फायदा नियमों की अनदेखी करने वाले वाहन चालकों को मिल रहा है।
इन चौराहों पर जाम से मिलेगी निजात
तैयार रिपोर्ट में बताया गया है कि शहर के प्रमुख चौराहों में शामिल घंटाघर, स्टेशन चौराहा, तीनगुल्ली चौराहा, किल्लाई चौराहा, सहकारी बैंक चौराहा, कीर्तिस्तंभ बस स्टैंड चौराहा पर सिग्नल व्यवस्था से जाम की समस्या से स्थाई निजात मिल जाएगा। वहीं वर्तमान स्थिति की बात की जाए तो इन चौराहों पर जाम की स्थिति सुबह १० बजे से रात ०९ बजे तक बनी रहती है। इस समयावधि के दौरान कभी भी जाम इन चौराहों पर लग जाता है।
&सिग्नल लगाए जाने की डीपीआर तैयार पूर्व में कर ली गई थी। शीघ्र ही इस व्यवस्था को शुरु करने के लिए प्रशासनिक कार्रवाई की जाएगी।
कपिल खरे, सीएमओ दमोह

Sanket Shrivastava
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned